दमण-दीव एवं दानह की आजादी के बाद पहली बार भ्रष्टाचार विरोधी पुलिस स्टेशन का प्रशासक प्रफुल पटेल ने किया शुभारंभ - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Saturday, February 23, 2019
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दमण-दीव एवं दानह की आजादी के बाद पहली बार भ्रष्टाचार विरोधी पुलिस स्टेशन का प्रशासक प्रफुल पटेल ने किया शुभारंभ
    पीएम मोदी के सीधे मार्गदर्शन में संघ प्रदेशों से भ्रष्टाचार की हमेशा के लिए विदाई का सिस्टम तैयार
    - सरकारी कर्मचारी और अधिकारी ही नहीं सांसदों, जिला पंचायत सदस्यों, काउंसिलरोें और सरपंचों के खिलाफ भी हो सकेगी शिकायत: प्रफुल पटेल - प्रशासक प्रफुल पटेल की सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों को सलाह: दमण-दीव और दानह की जनता की सेवा पूरी ईमानदारी से करे और उनके वाजिब और कानूनी कायार्ें को समय पर करे
    दमण 25 जनवरी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जीरो टॉलरेंस नीति को ठोस तरीके से संघ प्रदेशों में लागू करते हुए प्रशासक प्रफुल पटेल ने दोनों ही प्रदेशों के लिए भ्रष्टाचार विरोधी पुलिस थाने का शुभारंभ कराकर अपने इरादे स्पष्ट कर दिये है। केन्द्रशासित प्रदेश दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली की आजादी के बाद पहली बार भ्रष्टाचार विरोधी पुलिस स्टेशन की स्थापना हुई है। इस अवसर पर प्रदेश प्रशासक प्रफुल पटेल ने सांकेतिक भाषा में न सिर्फ सरकारी कर्मचारियांे एवं अधिकारियों बल्कि जनप्रतिनिधियों को भी भ्रष्टाचार से दूर रहने की चेतावनी दे दी। प्रफुल पटेल ने सार्वजनिक मंच से कहा कि भ्रष्टाचार विरोधी पुलिस स्टेशन में सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ-साथ सांसदों, जिला पंचायत सदस्यों, काउंसिलरों एवं सरपंचों के खिलाफ भी जनता शिकायत कर पायेगी। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार विरोधी कानून 1947 से ही अमल में है अगर हमारे संघ प्रदेश बाद में भी आजाद हुए है तो भी इतने दशकों तक भ्रष्टाचार विरोधी पुलिस स्टेशन की स्थापना क्यों नहीं हुई? प्रशासक ने मार्मिक लहजे में कहा कि क्या इन दोनों संघ प्रदेशों में बिल्कुल भ्रष्टाचार नहीं था? उन्होंने बताया कि पहले पीडित लोगों का सीबीआई में शिकायत करने के लिए दिल्ली तक दौडना पडता था। लेकिन अब दोनों संघ प्रदेशों की जनता अपने ही प्रदेश में भ्रष्टाचार के खिलाफ शिकायत कर पायेगी। उन्होंने कहा कि मैं ऐसी आशा रखता हूं कि जनता को यहां शिकायत करने का मौका न मिले। आप उनका काम अगर कानून के दायरे में है और वाजिब है तो उसे समय पर पूरा करे। आज इस अवसर पर प्रदेश के सांसद लालू पटेल ने कहा कि 2014 से देश में मोदी सरकार आने के बाद और प्रदेश प्रशासक के तौर पर प्रफुल पटेल के आगमन के बाद भ्रष्टाचार पर पूर्णविराम लग गया है। पूर्व के वषार्ें में भर्ती प्रक्रियाओं में बोली लगती थी। लेकिन अब मेरिट के आधार पर उम्मीदवारों का चयन होता है। लालू पटेल ने सांसद भी भ्रष्टाचार विरोधी पुलिस स्टेशन के दायरे में होने की उप गृह सचिव गुरप्रीत सिंह द्वारा प्रेजेंटेशन में दी गयी जानकारी पर टिप्पणी करते हुए कहा कि मैं तो देना बैंक हूं लेना बैंक नहीं हूं। आज के कार्यक्रम में उप गृह सचिव गुरप्रीत सिंह ने हिन्दी के साथ-साथ गुजराती भाषा में भ्रष्टाचार कानून की जानकारी का ब्यौरा पावर प्रेजेंटेशन के जरिये पेश कर सभी को अचंभित कर दिया। जब उप गृह सचिव गुरप्रीत सिंह हिन्दी के साथ-साथ थोडी बहुत गुजराती भाषा में उपस्थितजनों को समझा रही थी तब गृह सचिव एस. एस. यादव का चेहरा खुशी से खिल रहा था। इतना ही नहीं जब गुरप्रीत सिंह ने अपना प्रेजेंटेशन पूरा किया तो गृह सचिव एस. एस. यादव ने ताली बजाकर उनका अभिवादन भी किया। कार्यक्रम के शुरुआत में प्रदेश के डीआईजीपी बी. के. सिंह ने प्रशासक प्रफुल पटेल को पौधा अर्पण कर उनका स्वागत किया था। इसी तर्ज पर एसपी आत्माराम देशपांडे ने सांसद लालू पटेल को पौधा देकर स्वागत किया। साथ ही स्वागत प्रवचन भी किया। इस मौके पर दमण-दीव प्रदेश भाजपा अध्यक्ष गोपाल टंडेल (दादा), स्वास्थ्य निदेशक डॉ. वी. के. दास, दानह एसपी शरद भास्कर दराडे, दमण एसपी विक्रमजीत सिंह, एसडीपीओ विपुल अनेकांत, एसडीएम चार्मी पारेख, डिप्टी कलेक्टर जनरल हरमिन्दर सिंह, सीईओ परिमल जानी, सीओ वैभव रिखारी, काउंसिलर ईरा लाला, सरपंचों में कलावती पटेल, विजय पटेल, शंकर पटेल, बीडीओ धर्मेश दमणिया, सहायक शिक्षा निदेशक मणिलाल पटेल एवं एसडीपीओ, पुलिस इंस्पेक्टर्स तथा दानह पुलिस-प्रशासन से जुड़े अधिकारियों की मौजूदगी रही। कार्यक्रम का संचालन मनीष स्मार्ट ने किया। आभार विधि डीवाएसपी एल. एन. रोहित ने की।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS