दमण आबकारी विभाग ने शुरु की स्वचालित एकीकृत वेब आधारित आबकारी राजस्­व प्रबंधन प्रणाली - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Thursday, April 25, 2019
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दमण आबकारी विभाग ने शुरु की स्वचालित एकीकृत वेब आधारित आबकारी राजस्­व प्रबंधन प्रणाली
    - प्रशासक प्रफुल पटेल की सफल पहल - सभी डिस्­टलरियों, थोक-विक्रेताओं और खुदरा विक्रेताओं को परमीट सहित की सुविधाएं मिलेगी ऑनलाइन - आबकारी उपायुक्त चार्मी पारेख की अध्यक्षता में स्वामी विवेकानंद सभागार में 225 लाइसेंसधारकों एवं लगभग 500 लोगों को किया गया प्रशिक्षित
    (असली आजादी न्यूज नेटवर्क) दमण 08 फरवरी। संघ प्रदेश प्रशासक प्रफुल पटेल ने सभी विभागों को पारदर्शी एवं डिजीटलाइजेशन करने का निर्देश दिया था। जिसके तहत आबकारी आयुक्­त ने दमण एवं दीव के आबकारी विभाग की आपूर्ति श्रृंखला प्रक्रिया को स्­वचालित बनाने के लिए एकीकृत वेब आधारित आबकारी राजस्­व प्रबंधन प्रणाली की शुरूआत www.ddnexcise.gov.in की है। आईईआरएमएस एक महत्वपूर्ण परियोजना है। जिसके अंतर्गत सभी डिस्टलरियों, थोक-विक्रेताओं और खुदरा विक्रेताओं के साथ-साथ अवसर आधारित जारी किये जाने वाले परमिट सहित दमण एवं दीव के आबकारी विभाग की आपूर्ति श्रृंखला प्रक्रिया के इलेक्­ट्रॉनिक क्रिएशन, नियंत्रण, अनुवीक्षण एवं प्रबंधन हेतु केन्द्रीय वेब आधारित सॉफ्टवेयर शामिल है। इस परियोजना के आरंभ होने से अधिक तीव्र और सरल कार्य प्रणाली के द्वारा सभी प्रक्रियाएं सहज एवं कारगर हो गई है। इससे विभाग की प्रभावशीलता एवं दक्षता में व्­यापक वृद्धि­ हुई है। यह परियोजना डिजीटल इंडिया कार्यक्रम की तर्ज पर है,­ जिसके अंतर्गत भारत को डिजीटल हाऊस बनाने का लक्ष्य निहित है। साथ ही इस परियोजना के कारण लाइसेंसधारकों को बाधारहित और सहज सेवाएं प्राप्­त हो पा रही हैं। आबकारी विभाग द्वारा कागज के उपयोग एवं अपशिष्टता को कारगर रूप से कम किया गया है। अब परिवहन परमिट पूर्णरूप से ऑनलाइन जारी किये जा रहे हैं। सभी लाइसेंसधारकों को प्रणाली से अवगत कराने के लिए दिसंबर 2018 से विभाग द्वारा विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किये गये हैं। आबाकारी उपायुक्त चार्मी पारेख की अध्यक्षता में आज स्­वामी विवेकानंद सभागार में सभी खुदरा विक्रेताओं तथा बार एवं रेस्तरां मालिकों को प्रशिक्षण दिया गया। इसके अंतर्गत 225 लाइसेंसधारकों एवं लगभग 500 लोगों को हाथो हाथ प्रशिक्षित किया गया। सभी लाईसेंसधारकों को सहजता से ऑफलाइन से ऑनलाइन मोड में जाने हेतु विभाग की ओर से पूर्ण सहयोग एवं समर्थन मुहैया कराने हेतु प्रयास किया जाएगा। वास्तव में उनसे प्राप्­त सकारात्­मक प्रतिक्रिया सेवाओं की बेहतर सुपुर्दगी के लिए हमारे लिए प्रेरणास्रोत है। इस परियोजना के शुरू होने से गैर-लाइसेंसधारी परिसरों में शराब के उपभोग हेतु अवसर आधारित लाइसेंस भी जारी किया जाएगा जो पहले नागरिकों के लिए अत्­यंत असुविधाजनक था। अब नागरिक आसानी से विशेष अवसरों जैसे विवाह एवं अन्­य समारोहों हेतु आबकारी कार्यालय में स्­वयं उपस्थित हुए बिना अवसर आधारित लाईसेंस हेतु ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। नागरिकों के सतत समर्थन एवं समग्र सहयोग के लिए आबकारी विभाग ने उनके प्रति आभार प्रकट किया है।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS