दाभेल पंचायत के लिए पूर्व सांसद डाह्याभाई पटेल ने चुनाव आयुक्त से मांगा म्युनिसिपल का दर्जा - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Friday, July 20, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दाभेल पंचायत के लिए पूर्व सांसद डाह्याभाई पटेल ने चुनाव आयुक्त से मांगा म्युनिसिपल का दर्जा
    - 63,000 की आबादी वाली दाभेल ग्रुप पंचायत को मिलना चाहिए म्युनिसिपल काउंसिल का सेटअप: पूर्व सांसद डाह्याभाई पटेल - संघ प्रदेशों के चुनाव आयुक्त नरेन्द्र कुमार के साथ हुई बैठक में डाह्याभाई पटेल ने अलग म्युनिसिपल काउंसिल न मिले तो दमण म्युनिसिपल काउंसिल में शामिल करने अथवा दाभेल पंचायत के लिए 4 जिला पंचायत सीटों का भी दिया विकल्प
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 17 अप्रैल। पूरे देश के केन्द्रशासित प्रदेशों में सबसे बडी आबादी वाली दाभेल पंचायत को म्युनिसिपल काउंसिल बनाने की मांग फिर एक बार उठी है। दमण-दीव के पूर्व सांसद डाह्याभाई पटेल ने संघ प्रदेशों के चुनाव आयुक्त नरेन्द्र कुमार के साथ जनप्रतिनिधियों एवं राजनैतिक दलों की बैठक में यह मांग करते हुए कहा कि दाभेल की आबादी 63,000 के पार हो चुकी है। इतनी बडी पंचायत को अब म्युनिसिपल काउंसिल का दर्जा मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों में 30-35 हजार की आबादी के बाद म्युनिसिपल काउंसिल का सेटअप मिल जाता है लेकिन दमण-दीव की सबसे बडी पंचायत दाभेल ग्रुप ग्राम पंचायत को अब तक यह दर्जा क्यों नहीं मिला? पूर्व सांसद डाह्याभाई पटेल ने चुनाव आयुक्त नरेन्द्र कुमार से निवेदन किया कि दाभेल ग्रुप ग्राम पंचायत को म्युनिसिपल काउंसिल में तब्दील किया जाये। उन्होंने यह भी कहा कि अगर अलग म्युनिसिपल काउंसिल नहीं दी जा सकती है तो दाभेल पंचायत को दमण म्युनिसिपिल काउंसिल में शामिल कर म्युनिसिपल काउंसिल का स्टे्टस देना चाहिए। डाह्याभाई पटेल ने दाभेल ग्रुप ग्राम पंचायत क्षेत्र में जिला पंचायत की 4 सीटें करने का भी विकल्प दिया। गौरतलब है कि दाभेल ग्रुप ग्राम पंचायत की आबादी 2011 की जनगणना के मुताबिक 58,000 के लगभग थी। 7 साल के बाद यह आबादी 63,000 को पार कर चुकी है। पंचायत स्तर पर इतनी बडी आबादी को मूलभूत सुविधाएं देना वास्तविक रूप से मुमकिन नहीं है। इतनी बडी आबादी के लिए सडके, गटर, स्ट्रीट लाइट सहित की सुविधाएं पंचायत स्तर पर तो मुहैया कराना पिछले कई वर्षों से चुनौती भरा काम रहा है। पिछले कुछ वर्षों से पंचायती अधिकारों में कटौती के बाद पंचायतों की जनसुविधाएं उपलब्ध कराने की क्षमताएं सरपंच स्तर पर तो ना के बराबर रह गई है। शायद इसलिए पूर्व सांसद डाह्याभाई पटेल ने पूरे दाभेल क्षेत्र का मास्टर प्लान के तहत विकास करने के लिए म्युनिसिपल काउंसिल का स्टे्टस मांगा है। अगर चुनाव आयुक्त नरेन्द्र कुमार इस प्रस्ताव पर आगे बढेंगे तो दाभेल की सूरत बदलना तय है।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS