जून 2021 तक देश के सभी बिजली के मीटर स्मार्ट प्री-पेड होंगे:आर.के. सिंह - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Monday, August 20, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • जून 2021 तक देश के सभी बिजली के मीटर स्मार्ट प्री-पेड होंगे:आर.के. सिंह
    - देश के सभी राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में सभी मीटर स्मार्ट प्री-पेड होंगे और बिजली बिल आपके घर पहुंचाने के दिन होंगे समाप्त: विद्युत तथा नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री आर.के. सिंह - विद्युत मंत्री ने निर्माताओं को उत्पादन बढ़ाने की सलाह दी:आर.के. सिंह - इस कदम से बिजली क्षेत्र में क्रांति आएगी, रोजगार सृजन होगा: विद्युतमंत्री
    असली आजादी ब्यूरो, नई दिल्ली, 07 जून। मोदी सरकार ने बिजली क्षेत्र में महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए देश के सभी राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में बिजली मीटरों को स्मार्ट प्री-पेड मीटरों में तब्दील करने का फैसला लिया है। मोदी सरकार के विद्युत तथा नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आर के सिंह ने कहा है कि अगले तीन वर्षों में सभी मीटर स्मार्ट प्रीपेड होंगे और बिजली बिल आपके घर पहुंचने के दिन समाप्त हो जायेंगे। सिंह विद्युत मंत्रालय द्वारा आयोजित मीटर निर्माताओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे। विद्युत मंत्री ने निर्माताओं को सलाह दी कि वे स्मार्ट प्रीपेड मीटरों का उत्पादन बढ़ाएं क्योंकि आने वाले वर्षों में इसकी बड़ी मांग होगी। उन्होंने मंत्रालय के अधिकारियों को सलाह दी कि वे एक विशेष तिथि के बाद स्मार्ट प्रीपेड मीटरों को अनिवार्य बनाने पर विचार करें। इससे बिजली क्षेत्र में क्रांति आयेगी। एटी तथा सी नुकसान कम होंगे, बिजली वितरण कंपनियों की स्थिति सुधरेगी। ऊर्जा संरक्षण को प्रोत्साहन मिलेगा और बिल भुगतान में सहजता आयेगी। इससे युवाओं के लिए कौशल संपन्न रोजगार भी मिलेंगे। बैठक में मीटरों के विभिन्न पहलुओं जैसे बीआईएस प्रमाणीकरण, आरएफ/जीपीआरएस के साथ मेल तथा वर्तमान डिजिटल संरचना के साथ मेलमिलाप पर चर्चा की गई। बैठक में इस बात पर सहमति बनी की सभी तकनीकी पहलुओं पर मीटर निर्माताओं, बिजली वितरण कंपनियों तथा प्रणाली एकीकरण करने वालों की सलाह से आगे विचार-विमर्श किया जाएगा। बैठक में विद्युत सचिव श्री ए के भल्ला, अपर सचिव संजीव नंदन सहाय, संयुक्त सचिव अरुण कुमार वर्मा तथा केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण, पीएफसी, आरईसी, ईईएसएल के अधिकारी और मीटर निर्माता उपस्थित थे।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS