आदिवासी समाज का हक कोई छीन नहीं सकता, आधी रात को भी मेरा दरवाजा आदिवासियों के लिए खुला है: प्रशासक प्रफुल पटेल - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Wednesday, October 17, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • आदिवासी समाज का हक कोई छीन नहीं सकता, आधी रात को भी मेरा दरवाजा आदिवासियों के लिए खुला है: प्रशासक प्रफुल पटेल
    - दमण प्रशासन एवं दमण आदिवासी समाज ने मनाया विश्व आदिवासी दिवस - मैं हर वक्त आदिवासी समाज के साथ खड़ा हूं : सांसद लालू पटेल - आदिवासी समाज के अग्रणियों ने प्रशासक प्रफुल पटेल को ज्ञापन सौंप बताई अपनी समस्याएं - सिर्फ 15-20 आदिवासी लोगों के ही बिजली बिल बाकी हैं, बाकी अन्य लोगों के है: प्रफुल पटेल
    दमण 09 अगस्त। संघ प्रदेश दमण-दीव प्रशासन एवं दमण जिला आदिवासी समाज ने संयुक्त रुप से आज कोली पटेल समाज हॉल में विश्व आदिवासी दिवस कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया। कार्यक्रम का उद्घाटन प्रशासक प्रफुल पटेल, सांसद लालू पटेल एवं आदिवासी समाज के अग्रणियों ने दीप प्रज्जवलित कर किया। इस अवसर पर प्रशासक प्रफुल पटेल ने विश्व आदिवासी दिवस पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि दमण जिले में आदिवासी समाज की सभी छोटी-बडी समस्याओं को समाज के अग्रणियों द्वारा आने वाले सप्ताहों के दौरान ग्राम सभाओं में जिला कलेक्टर एवं अधिकारियों के माध्यम से चर्चा कर निपटाया जायेगा। प्रशासक प्रफुल पटेल ने कहा कि संघ प्रशासन आदिवासी समाज की जरुरतों और अधिकारों को लेकर सजग है और उन्हें पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ने वाला है। दानह के आदिवासी समाज की तुलना में दमण के आदिवासी लोगों को ज्यादा सुखी और प्रगतिशील बताते हुए प्रशासक ने खुशी जताई। आदिवासी समाज के अग्रणियों द्वारा प्रस्तुत मांगो पर बोलते हुए प्रशासक ने कहा कि गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले आदिवासी समाज के लोगों को खाद्य सुरक्षा योजना के तहत प्रति व्यक्ति 35 किलो प्रति माह मिलने वाले अनाज का लाभ लेना चाहिए। खाद्य सुरक्षा योजना के तहत मिलने वाले अनाज के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए अपने सलाहकर एस. एस. यादव को सस्ते अनाज की दुकानों के संचालकों और ग्रामीणों के बीच बैठक आयोजित करने का भी मंच से ही निर्देश दिया। स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में प्रशासक ने कहा कि संजीवनी स्वास्थ्य बीमा योजना जैसी स्कीमों की वजह से गरीब से गरीब लोगों को भी मुंबई के बेहतरीन हॉस्पिटल में इलाज करने का मौका मिल रहा है जो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की देन है। प्रशासक ने कहा कि दमण-दीव के आदिवासी समाज के लोग दानह के तुलना में कही अधिक प्राथमिक बुनियादी सुविधाओं का लाभ ले रहे है। उन्होंने आदिवासी बहुल गावों में सड़कों की दशा को सुधारने के लिए चल रहे प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि आने वाले समय में दोनों संघ प्रदेशों के गांव-गांव में सड़कें दुरुस्त होगी। उन्होंने कौशल विकास योजना का लाभ आदिवासी समाज के युवाओं से उठाने को कहा। शिक्षा क्षेत्र में दमण के आदिवासी समाज की प्रगति पर खुशी व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि आंगनवाडी से लेकर इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज तक शिक्षा ग्रहण करने में गरीब छात्रों को लाभ मिले इसके प्रबंध किये गए है। प्रशासक प्रफुल पटेल ने कहा कि किसी में हिम्मत नहीं है कि आदिवासी समाज का हक छीन सके, परेशानी में आधी रात को भी मेरा दरवाजा खटखटाये तो मैं सहयोग के लिए तैयार मिलूगां। प्रशासक प्रफुल पटेल ने इस कार्यक्रम में स्पष्ट संकेत दे दिया कि बिजली बिल में राहत नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि 700 लोग है जिनका नाम बिजली बिल बकाया की लिस्ट में है, इसमें से सिर्फ 15-20 ही आदिवासी है। उन्होंने कहा कि इसमें मैं कुछ नहीं कर सकता। उन्हांेने इशारा किया कि बिजली बिल का बकाया भरना ही होगा। सांसद लालू पटेल ने उपस्थित आदिवासी समाज के लोगों को विश्व आदिवासी दिवस की शुभेच्छा देते हुए कहा कि वे आदिवासी हितों के लिए हमेशा ही सजक रहे है और कल भी आदिवासियों के साथ थे, आज भी है और कल भी आदिवासी समाज के लोगों के साथ खड़े रहेंगे। आदिवासी समाज के प्रमुख धीरू धोड़ी ने प्रशासक, सांसद सहित सभी मेहमानों का स्वागत करते हुए आदिवासी समाज से जुडी समस्याओं की ओर सबका ध्यान दिलाया और वषोंर् से लंबित समाज की मांगों को पूरा करने की प्रशासन से गुजारिश की। धोडी समाज के प्रमुख धीरू धोडी ने झरी में मौजूद स्टेच्यू को दुरुस्त करने या नए स्टेच्यू लगाने की मांग की। उन्होंने कहा कि मोटी दमण क्षेत्र आम तौर पर कृषि क्षेत्र घोषित है। यहां के आदिवासी समाज के अधिकांश लोग खेती करते है उन्हें दूसरे राज्यों में उन्नत कृषि के लिए प्रशिक्षण दिलाया जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने कृषि सब्सिडी 50 प्रतिशत से बढ़ाने की मांग की। हलपति समाज के प्रमुख विक्रम हलपति ने बिरसा मुंडा की प्रतिमा लगाने और झरी ब्रिज का नाम डॉ. भीमराव आंबेडकर के नाम पर रखने की मांग की। इसके अलावा उन्होंने जंपोर, बामणपूजा क्षेत्रों में बारिश के दिनों में पानी घुस जाने से खेती को होने वाले नुकसान से बचने के लिए प्रोटेक्शन वॉल बनाने की मांग की। आदिवासी समाज के उपप्रमुख भाविक हलपति ने आदिवासी हितों से जुडी समस्याओं और मांगों को पूरा करने पर जोर दिया। उन्होंने प्रशासक प्रफुल पटेल के कार्यकाल में आदिवासियों के लिए पक्के मकान, घर -घर शौचालय जैसे कार्यों के लिए की सराहना की। साथ ही उन्होंने सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को यूनिफार्म और किताबे मिलने में पहले होती रही देरी का जिक्र करते हुए कहा कि इस बार प्रशासक प्रफुल पटेल की सक्रियता से स्कूली बच्चों को वक्त पर किताबें और कपडे मिल गए है। उन्होंने आंगनवाडी घरों के कायाकल्प से लेकर इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज शुरू करने के लिए प्रशासक का आभार माना। प्रशासक प्रफुल पटेल के प्रयासों से आदिवासी प्रकोष्ठ बनाई जाने से समाज के लोगों को विभिन्न सरकारी कल्याणकारी योजनाओं का फायदा मिलने का भी जिक्र किया। इसके आलावा आदिवासी समाज की महिलाओं को स्थानीय उद्योगों को न्यूनतम पारिश्रमिक से कम वेतन दिए जाने की ओर प्रशासक का ध्यान दिलाया। उडान योजना के तहत आदिवासी समाज के बच्चों को 55 प्रतिशत अंकों पर भी लैपटॉप दिलाये जाने और यहां के एसटी-एससी वर्ग के लिए एमबीबीएस सीटों को बढ़ाये जाने की उन्होंने मांग की। इसके पहले कार्यक्रम में पहुंचने पर प्रशासक प्रफुल पटेल, सांसद लालू पटेल, सलाहकार एस.एस. यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष सुरेश पटेल, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, डीआईजीपी बी. के. सिंह, कलेक्टर संदीप सिंह सहित महानुभावों का दमण जिला आदिवासी समाज के अग्रणियों ने पारंपरिक रूप से स्वागत किया। इस अवसर पर आदिवासी समाज के बच्चों को पुरुस्कृत किया गया और एक पुस्तिका का भी विमोचन हुआ। कार्यक्रम के अंत में आदिवासी संस्कृति को साकार करता लोकनृत्य प्रस्तुत किया गया। इस कार्यक्रम में दमण-दीव प्रदेश भाजपा अध्यक्ष गोपाल दादा, डिप्टी कलेक्टर हरमिन्द्र सिंह, भाजपा महामंत्री वासू पटेल, भाजपा प्रवक्ता विशाल टंडेल, काउंसिलर ईरा लाला एवं चंद्रगिरी ईश्वर, जिला पंचायत सदस्य तरुणा पटेल, जिला पंचातय सीईओ पी. एस. जानी, बीडीओ धर्मेश दमणिया, सरपंचों, पंचायत सदस्यों, जिला पंचायत सदस्यों, धोडी, हलपति, वारली समाज के बडी संख्या में महिला-पुरुषों की मौजूदगी रही।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS