केतन पटेल को मिला ग्रामीणों का साथ: दमण के सभी गांवों से उठी एक ही आवाज नहीं चाहिए सडकों के नये नियम - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Saturday, November 17, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • केतन पटेल को मिला ग्रामीणों का साथ: दमण के सभी गांवों से उठी एक ही आवाज नहीं चाहिए सडकों के नये नियम
    सडकों के प्रस्तावित नये नियमों के खिलाफ कांग्रेस प्रमुख केतन पटेल ने गांव-गांव शुरु की बरामदा बैठकें
    - पटलारा, मगरवाडा, परियारी, दमणवाडा, मरवड, दलवाडा, भीमपोर, दुनेठा, वरकुंड, कडैया सहित अनेक गांवों में केतन पटेल ने ग्रामीणों को प्रशासन के नये ड्राफ्ट नोटिफिकेशन से होने वाले नुकसान के प्रति किया जागरुक - ग्रामीणों ने गांवों की सडकों के दोनों तरफ और सडक के मध्य से 24 मीटर (78-78 फीट) जगह छोडने के नियम को गांव के लिए घातक बताया
    असली आजादी ब्यूरो, दमण, 29 अक्टूबर। दमण प्रशासन द्वारा सडकों के दोनों ओर जगह छोडने के नये नियम का गांव-गांव में विरोध हो रहा है। कांग्रेस पार्टी द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, दमण-दीव कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल को नये नियम के विरुद्ध में आंदोलन करने की मंजूरी प्रशासन द्वारा नहीं दिये जाने के बाद आज उन्होंने जनप्रतिनिधियों, युवाओं एवं कांग्रेस परिवार के साथ गांव-गांव घूमकर बरामदा बैठकें कर ग्रामीणों पर आने वाले संकट के बारे में ग्रामजनों को जानकारी दी। पटलारा, मगरवाडा, परियारी, दमणवाडा, मरवड, दलवाडा, भीमपोर, दुनेठा, वरकुंड, कडैया सहित अनेक गांवों में केतन पटेल ने गांवों की छोटी-छोटी सडकों के दोनों ओर 24 मीटर (78-78 फीट) जगह छोडने के नियम को जनविरोधी बताते हुए कहा कि यह नियम लागू हो जायेगा तो गांव के लोग अपनी जमीन में घर या दुकान नहीं बना सकेंगे। उन्होंने कहा कि अधिकारी दिल्ली से आते है और एसी चेम्बर में बैठकर दमण-दीव के लिए नियम बना देते है लेकिन उन्हें दमण-दीव की भौगोलिक परिस्थिति पता ही नहीं होती है। जिसके चलते आखिरकार जनता को भुगतना पडता है। दमण के सभी गांवों से सडकों को लेकर नये नियमों के खिलाफ एक सुर में विरोध की आवाज उठी। सभी नागरिकों ने नये ड्राफ्ट नोटिफिकेशन का सख्त शब्दों में विरोध करते हुए केतन पटेल का इस नियम के विरुद्ध चलाये जा रहे आंदोलन को पूरा समर्थन घोषित किया। केतन पटेल ने आज की सभी बरामदा बैठकों में उपस्थित रहने एवं आंदोलन में सहयोग घोषित करने के लिए सभी ग्रामजनों का आभार माना। साथ ही साथ इस संघर्ष को परिणाम तक जारी रखने का वचन भी दिया। गौरतलब है कि प्रशासन दमण के विभिन्न सडकों जैसे कि स्टेट हाईवे (कोस्टल), मेजर डिस्ट्रीक्ट रोड (दमण की मुख्य सडके ), अदर डिस्ट्रीक्ट रोड, विलेज रोड (गांव की सडकें) के दोनों तरफ 24 मीटर (78 फीट) से लेकर 75 मीटर (246 फीट) जगह छोडने का नियम अमल में ला रहा है। यह नया नियम लागू हो जाने के बाद छोटे से दमण-दीव का विकास संपूर्ण रुप से अटक जायेगा क्योंकि दमण-दीव ज्यादातर इन सभी सडकों के दोनों तरफ बसा हुआ है। खास करके गांवों के रास्तों के दोनों तरफ 78-78 फीट जगह छोडने का जो फरमान हो रहा है वह दमण-दीव के गांवों को हमेशा के लिए विकास रोकने वाला साबित होगा। कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि प्रदेश की जनता पर अचानक आये हुए इस संकट के सामने पार्टी संघर्ष करेगी और नागरिकों के अधिकारों के लिए अंत तक संघर्ष जारी रखेगी।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS