केतन पटेल एवं अमी पटेल ने मदर्स-डे पर स्पोर्ट्स डे कार्यक्रम कर हर माँ को किया सलाम - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Tuesday, July 17, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • केतन पटेल एवं अमी पटेल ने मदर्स-डे पर स्पोर्ट्स डे कार्यक्रम कर हर माँ को किया सलाम
    - केतन एनजीओ द्वारादिलीपनगर ग्राउंड के खेलोत्सव में महिलाओं एवं बहनों ने रस्सी खींच प्रतियोगिता में नारी शक्ति का दिखाया दमखम - दमण के इतिहास में पहली बार रस्सी तोडकर महिलाओं ने दिखायी अपनी धमक - अमी पटेल ने माताओं के हाथों से केक कटवाकर सभी माताओं को दी मदर्स-डे की शुभकामनाएं - केतन पटेल ने भी माताओं को दी शुभकामनाएं, कहा: जिनके कारण हम इस धरती पर आये है उनके मान सम्मान में कोई कोर कसर नहीं रहनी चाहिए - ममता का कोई मौल नहीं केतन एनजीओ शुरु से ही माताओं और बहनों की तरक्की और खुशहाली के लिए कार्यरत रहा है और आगे भी रहेगा : अमी पटेल - केतन एनजीओ एवं डॉ. रमणीकलाल मेडिकल रिलीफ एंड रिसर्च ट्रस्ट के प्रेसिडेंट केतन पटेल और वाइस प्रेसिडेंट अमी पटेल ने विजेता माता-बहनों को दिया पुरस्कार - कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाली सभी प्रतिभागियों को दिया गया प्रोत्साहन पुरस्कार
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 13 मई। आज 13 मई को पूरी दुनियाभर में मदर्स-डे मनाया गया। आज का दिन हर माँ के लिए खास होता है। इस दिन लोग अपनी माँ के लिए कुछ स्पेशल करते है उन्हें उनके प्यार का अहसास करवाया जाता है। इसी खासमखास दिन को केतन एनजीओ ने दमण की हर माँ के लिए स्पेशल बना दिया। आज इसी दिन को खासमखास एवं दमण के लिए यादगार पल बनाने के लिए केतन एनजीओ ने मदर्स-डे के अवसर पर माताओं एवं बहनों के लिए स्पोर्ट्स डे का आयोजन किया। इसके साथ ही स्पोर्ट्स-डे का आयोजन कर माँ को सलाम किया। दिलीपनगर ग्राउंड में केतन एनजीओ एवं डॉ. रमणीकलाल मेडिकल रिलीफ एंड रिसर्च ट्रस्ट ने माताओं एवं बहनों के साथ मदर्स-डे धूमधाम से मनाया। सुबह 9 बजे से विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन के बीच एनजीओ के अध्यक्ष केतन पटेल ने सभी माताओं को मदर्स-डे की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जिनके कारण हम इस धरती पर आये है उनके मान-सम्मान में कोई कोर-कसर नहीं रहनी चाहिए। हमें इस दुनियार में लाने वाली माँ के एहसान हम पर बहुत ही ज्यादा है। हम उनके एहसानों को कभी चुका भी नहीं पाएंगे। इस खास अवसर पर रस्साखींच प्रतिस्पर्धा का खास रूप से आयोजन किया गया था। दमण के इतिहास में पहली बार महिलाओं ने रस्सी खींच प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर नारी शक्ति का परिचय दिया। इस अवसर पर केतन पटेल ने कहा कि दमण के इतिहास में पहली बार महिलाओं ने इस प्रतिस्पर्धा में भाग लेते हुए रस्सी तोड़कर नारी शक्ति का परिचय देकर अपना जज्बा दिखाया है। इस मौके पर केतन एनजीओ की उपाध्यक्षा अमी पटेल ने माताओं के हाथों केक कटवाया। इसके साथ ही इस मौके पर उपस्थित बुजूर्ग महिलाओं एवं उपस्थितजनों को केक खिलाया गया। इस दौरान अमी पटेल ने मातृशक्ति के तमाम मूल बिन्दुओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मदर्स-डे के क्या मायने होने चाहिए, किस तरह का लेना चाहिए संकल्प और कैसे हम माँ का ताउम्र सम्मान करें जिनके कारण हम इस धरती पर आये है? उन्होंने कहा कि वे ऐसी मातृशक्तियों को सादर नमन करती है जिनकी ममता का कोई मोल नहीं। मां शब्द में ही अथाह प्रेम और समर्पण की भावना छुपी हुई है। मां वह ताकत है जिसे किसी भी मुसीबत में हम सबसे पहले पुकारते हैं। बिना मां के हमारे अस्तित्व की कल्पना करना नामुमकिन है। सभी महापुरुषों की सबसे पहली गुरू एक मां ही होती है। उन्होंने यह भी कहा कि केतन एनजीओ शुरू से ही माताओं एवं बहनों की तरक्की और खुशहाल जीवन के लिए कार्य कर रहा है और आगे भी करता रहेगा। उन्होंने केतन एनजीओ द्वारा माताओं और बहनों के आत्मसम्मान और तरक्की के लिए किये जा रहे कार्यो उदाहरण देते हुए बताया कि संस्था द्वारा सीनियर सिटीजन पेंशन, हेल्थ कार्ड, बेबी कार्ड, लाल कार्ड, मासिक राशन जैसी अनगिनत स्कीमें माताओं और बहनों को लाभान्वित करने के लिए शुरू की गई है। उन्होंने इस अवसर पर एक बार पुन: मदर्स-डे पर अमी पटेल ने हरेक माँ को ढेर सारी बधाईयां देते हुए मातृशक्ति का सम्मान किया। उल्लेखनीय है कि माँ शब्द की अनुभूति को बयां करना नामुमकिन है। इसलिए हमारी फिल्मों में माँ पर एक ऐसा गीत बनाया गया जो आज कई साल बीत जाने के बाद भी लोग याद करते है और माँ के सम्मान में गुनगुनाते भी है.... तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है, प्यारी प्यारी है, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ। यह जो दुनिया है, वन है कांटो का, तू फुलवारी है, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ॥

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS