दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सिंपल टंडेल का जन्मदिन आज - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Saturday, September 22, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सिंपल टंडेल का जन्मदिन आज
    - 2012 में दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की स्थापना कर सिंपल टंडेल ने दमण-दीव महिला सशक्तिकरण को दिया नया आयाम - डीएमसी की प्रथम महिला प्रेसिडेंट ताज भी सिंपल टंडेल ने पहना था - काउंसिलर से लेकर वाइस प्रेसिडेंट और प्रसिडेंट की भूमिका भी बखूबी निभा चुकी है सिंपल टंडेल
    दमण, 11 मार्च। दमण-दीव की महिलाओं को सशक्तिकरण का नया आयाम देनेवाली दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन सिंपल टंडेल का आज जन्मदिन है। 2012 में प्रदेश की महिलाओं को स्वनिर्भर बनाकर उन्हें सशक्त बनाने की प्रेरणा के साथ दामिनी वुमेंस फाउंडेशन की स्थापना सिंपल टंडेल ने की थी। पिछले 5-6 सालों में सिंपल टंडेल के दामिनी वुमेंस फाउंडेशन से हजारों महिलाओं ने विभिन्न हुनर सिखकर अपने आप को समाज में आत्मविश्वास के साथ खडा रहने का कौशल सिखा है। दमण-दीव में जब भी महिला सशक्तिकरण की बात जुबां पर आती है तो सबसे पहले सिंपल टंडेल का नाम ही सभी की जुबां पर आता है। बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सिंपल टंडेल को पसंद करते हैं। सिंपल टंडेल बच्चों के साथ बच्चों की तरह, युवाओं के साथ युवाओं की तरह और बुजुर्गों के साथ भी उनकी ही शैली में व्यवहार करती है जो सभी को पसंद आता है। सिंपल टंडेल के जन्मदिन पर हर साल बडी संख्या में लोग फेसबुक , ट्वीटर, वॉट्सएप, फोन एवं मैसेज कर उन्हें जन्मदिन की बधाईयां देते हैं। इस वर्ष भी यही परंपरा जारी रहने वाली है। गौरतलब है कि सिंपल टंडेल का सफर राजनीति से शुरु हुआ और सामाजिक संगठन तक पहुंचा है। ऐसे तो सिंपल टंडेल ने राजनीति के गुर अपने पिता माधूभाई टंडेल से ही सिखे थे। लेकिन सक्रिय राजनीति 2007-08 से शुरु की थी। दमण म्युनिसिपल काउंसिल की प्रथम महिला प्रेसिडेंट बनने का सौभाग्य सिंपल टंडेल को प्राप्त हुआ था। सिंपल टंडेल डीएमसी काउंसिलर से लेकर, डीएमसी वाइस प्रेसिडेंट एवं डीएमसी प्रेसिडेंट तक की जिम्मेदारी सफलतापूर्वक निभा चुकी है। दामिनी वुमेंस फाउंडेशन के माध्यम से दमण-दीव की हजारों महिलाओं के साथ सीधा संपर्क रखने वाली सिंपल टंडेल ने पारडी तालुका के कोलक गांव में भी दामिनी का सेंटर शुरु कर गुजरात की महिलाओं को भी सशक्तिकरण के अभियान से जोडा है।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS