प्रधानमंत्री नरेन्­द्र मोदी 22 नवंबर को नई दिल्ली में एजेंसी को आवंटित करेंगे कार्य आदेश - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Sunday, December 16, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • प्रधानमंत्री नरेन्­द्र मोदी 22 नवंबर को नई दिल्ली में एजेंसी को आवंटित करेंगे कार्य आदेश
    दमण और सिलवासा की तर्ज पर दीव में गैस पाइपलाइन बिछाने के लिए एजेंसी का हुआ चयन
    दमण 15 नवं­बर। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्­द्र मोदी का स्­वप्­न है कि भारत गैस आधारित अर्थव्यवस्था के साथ-साथ अगली पीढ़ी हेतु सस्­ते एवं कम प्रदूषण वाले प्राकृतिक गैस का उपयोग करने वाला देश बने। प्रधानमंत्री के इस स्­वप्­न को साकार करने की दिशा में संघ प्रदेश दमण एवं दीव तथा दादरा एवं नगर हवेली प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में कटिबद्ध है। प्रशासक प्रफुल पटेल के अथक प्रयासों के परिणामस्­वरूप दमण और सिलवासा की तर्ज पर दीव जिले में गैस पाइपलाइन बिछाने के लिए एजेंसी का चयन कर लिया गया है। भारत सरकार के पैट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस विनियामक बोर्ड नई दिल्­ली द्वारा आईआरएम एनर्जी प्राईवेट लिमिटेड को दीव में गैस पाइपलाइन बिछाने का कार्य सौंपा गया है। दीववासियों के लिए यह बड़े हर्ष की बात है कि 22 नवं­बर 2018 को नई दिल्­ली के विज्ञान भवन में आयोजित होने वाले भव्­य कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्­द्र मोदी के करकमलों से आईआरएम एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड को दीव में गैस पाइपलाइन बिछाने का कार्य आदेश सौंपा जाएगा। इस कार्यक्रम को प्रधानमंत्री स्­वंय संबोधित करेंगे जिसका सीधा प्रसारण भी किया जाएगा। गैस पाइपलाइन के बिछने से एक ओर जहां गृहस्­थों, औद्योगिक और वाणिज्­यक ईकाईयों को सुरक्षित एवं सस्­ती गैस की सुविधा मिलेगी। वहीं दूसरी और परिवहन के साधनों के लिए प्राकृतिक गैस के साधन भी मुहैया हो सकेंगे। गैस पाइपलाइन के बिछने से एक ओर जहां प्रदूषण कम होगा वहीं परिवहन लागत के कम होने से गैस की कीमतों में भी कमी आयेगी, साथ ही यह पर्यावरण हितैषी भी होगा। इस परियोजना के तहत सर्वप्रथम दमण और सिलवासा जिलों में गैस पाइपलाइन को बिछाने का कार्य आरंभ किया गया जो अपने अंतिम चरण में है। दमण में छोटे-बड़े पाइपलाइन मिलाकर कुल 134 किलोमीटर गैस पाइपलाइन बिछाया जा चुका है। पंजीकृत 28 वाणिज्­यक ईकाईयों में 23 को गैस पाइपलाइन सुविधा मुहैया कराई गई है, साथ ही पंजीकृत 12 औद्योगिक ईकाईयों में 9 को गैस पाइपलाइन से जोड़ दिया गया है। इसके अतिरिक्­त 2 सीएनजी स्­टेशन खोले जा चुके हैं और 19098 घरों तक गैस पाइपलाइन पहुंचाया गया है, जबकि 510 घरों में पाइपलाइन के जरिये गैस की आपूर्ति की जा रही है। दमण में गैस पाइपलाइन हेतु कुल 1513 घर पंजीकृत हुए हैं। इसी तरह सिलवासा में कुल 252 किलोमीटर गैस पाइपलाइन बिछाने का कार्य हुआ है। 40 हजार घरों तक गैस पाइपलाइन पहुंचाये गये हैं और 1500 घरों में पाइपलाइन के जरिये गैस आपूर्ति की जा रही है। अतिशीघ्र इन दोनों जिलों में शत-प्रतिशत लक्ष्­य को हासिल कर लिया जाएगा। ज्ञात है कि पिछले कुछ वर्षों में दमण-दीव पर्यटन केन्­द्र के रूप में उभरकर सामने आया है। ऐसे में यहां पर्यावरण की सुरक्षा अहम मुद्दा है। अगर गैस पाइपलाइन के जरिये गैस की आपूर्ति की जाती है तो निश्­चय ही यह प्रदेश के पर्यावरण हित में प्रेरक कदम होगा और इससे लोगों को 24x7 गैस-आपूर्ति की सुविधा मुहैया हो सकेगी।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS