माछीमार संकट: दमणवासियों ने स्वयंभू इकट्ठा होकर सहयोग का किया आह्वान - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Tuesday, March 19, 2019
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • माछीमार संकट: दमणवासियों ने स्वयंभू इकट्ठा होकर सहयोग का किया आह्वान
    - डीएमसी वाइस प्रेसिडेंट तथा काउंसिलरों ने माछीमार समाज के लिए सभी प्रयास किये होने का खुलासा किया: समाज के लिए आगे भी साथ खडे रहने का किया ऐलान - यूथ एक्शन फोर्स के प्रमुख उमेश पटेल ने कहा: मैं पिछले लंबे समय से आप लोगों को जगा रहा था लेकिन आप नहीं जागे और यह संकट आ गया, मैं हमेशा आपके साथ रहूंगा - कांग्रेस प्रमुख केतन पटेल ने कहा कि माछीमार समाज सहित सर्व समाज के संकटों पर हम आपके साथ हैं, सत्ताधारी पक्ष और सत्ताधारी सांसद की ज्यादा जिम्मेदारी - सांसद धर्मपत्नी तरुणाबेन पटेल ने माछीमारों पर संकट पर चिंता जताई: सांसद लालू पटेल हमेशा आपके साथ होने की घोषणा की - माछी महाजन के प्रमुख नरेन्द्र भाठेला एवं सेक्रेटरी गणेश टंडेल ने अपने विचार प्रकट किये - काउंसिलर चंद्रगिरी टंडेल, अनिल टंडेल, ईरा लाला ने माछीमारों का आशियाना बचाने के लिए क्या-क्या प्रयास किये उसकी जानकारी दी - डीएमसी वाइस प्रेसिडेंट लता टंडेल, पूर्व डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, पूर्व डीएमसी वाइस प्रेसिडेंट लक्ष्मी माछी, काउंसिलर रक्षा टंडेल ने माछीमार समाज के आह्वान पर उपस्थित रहकर सहयोग का दिया भरोसा - दमण के सबसे बडे समाज पटेल समाज के प्रमुख मोहन पटेल, भंडारी समाज प्रमुख रमेश भंडारी सहित अनेक अग्रणी रहे उपस्थित - जनता की एक ही राय विकास का विरोध नहीं लेकिन बेघर हुए लोगों के लिए जरुरी व्यवस्था करें प्रशासन
    दमण, 29 दिसंबर। दमण के नानी दमण एवं मोटी दमण तटीय क्षेत्र में रहने वाले मछुआरों की बस्ती पर पिछले 3 दिनों से हो रही कार्यवाही के खिलाफ माछी समाज द्वारा आह्वान करने पर आज भारी तादाद में दमणवासियों ने इकट्ठा होकर इस संकट की घडी में माछी समाज के साथ होने का ऐलान किया। आज शाम को नानी दमण श्मशान भूमि के पास खुले मैदान में खुली बैठक का आयोजन किया गया था। इस बैठक में माछी समाज के प्रमुख नरेन्द्र भाठेला, सेक्रेटरी गणेश टंडेल सहित माछी समाज के सभी काउंसिलरों, अग्रणियों, सांसद पत्नी तरुणा पटेल, यूथ एक्शन फोर्स प्रमुख उमेश पटेल, दमण-दीव कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल, पटेल समाज के प्रमुख मोहन पटेल, भंडारी समाज के प्रमुख रमेश भंडारी सहित अनेक अग्रणियों एवं भारी संख्या में युवाओं तथा महिलाओं की उपस्थिति रही। खुली बैठक की शुरुआत में माछी समाज के सेक्रेटरी गणेश टंडेल ने माछी समाज के आह्वान पर उपस्थित रहने पर सभी का आभार माना। इस बैठक में उमेश पटेल ने प्रशासन पर जनता की अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि मैं पिछले एक साल से आप सभी को जगा रहा था लेकिन आप लोग नहीं जागे और यह संकट आ गया। उमेश पटेल ने प्रशासक प्रफुल पटेल पर सीधा आरोप मढा। साथ ही साथ उन नेताओं को भी आडे हाथों लिया जो हमेशा उनकी हर बात पर तारीफ करते हैं। उमेश पटेल ने कहा कि मोटी दमण के मछुआरों एवं अन्य लोगों के घर बचाने के लिए उन्होंने बॉम्बे हाईकोर्ट में गुहार लगवाई है। 4 जनवरी तक स्टेटस-को मिला है। अब आगे डीएमसी की टीम को इन मछुआरों के घर बचाने की जिम्मेदारी उठानी है। उमेश पटेल ने 1998 के तत्कालीन चीफ ऑफिसर का आदेश का हवाला देते हुए कहा कि डीएमसी की टीम चाहे तो इस तोडक कार्यवाही को रोक सकती है और मछुआरों को उनके अधिकार दिला सकती है। उमेश पटेल ने यह भी कहा कि एक दूसरे के खिलाफ आरोप प्रत्यारोप नहीं करना है सिर्फ मछुआरों के घर कैसे बचे वैसा ही काम करना है। दमण-दीव कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल ने कहा कि मेरा समर्थन हमेशा माछी समाज सहित सर्व समाज को है। उन्होंने कहा कि लोगों के घर छीने जाये, बहन बेटियों को बेघर किया जाये ऐसा विकास क्या काम का। केतन पटेल ने सत्ताधारी भाजपा एवं भाजपा सांसद की जिम्मेदारी बताते हुए कहा कि केन्द्र में जिसकी सरकार होती है उस पार्टी का पावर होता है। अब उनकी जिम्मेदारी है कि उनको मछुआरों सहित के आशियानों को बचाना है। आज इस अवसर पर सांसद पत्नी तरुणा पटेल ने अपनी बात रखते हुए कहा कि सांसद लालू पटेल हमेशा आपके साथ है। पार्लामेंट चालू होने की वजह से वे नहीं आ पायें है। उन्होंने माछी समाज के आशियानों पर चल रही कार्यवाही को संकट बताया। आज डीएमसी की वाइस प्रेसिडेंट लता टंडेल और उनकी काउंसिलर टीम ने भी अपने विचार साझा किये। चंद्रगीरी टंडेल, अनिल टंडेल एवं ईरा लाला ने माछीमारों के घरों को बचाने के लिए पिछले 2 महीने में क्या-क्या प्रयास किये उसकी पूरी जानकारी दी। चंद्रगीरी टंडेल और अनिल टंडेल ने कहा कि हमने प्रशासन से 15 मीटर करने की गुहार लगाई थी। इसके बाद 17 मीटर की बात आयी, फिर 21 मीटर । प्रशासन की ओर से जब 21 मीटर के बाहर तोडने की कोशिश की गई तो हमने प्रशासक प्रफुल पटेल के निवासस्थान पर पहुंचकर उनसे गुहार लगाई। प्रशासक प्रफुल पटेल ने तुरंत जिला कलेक्टर को निर्देश दिया कि 21 मीटर के बाद कोई कार्यवाही न की जाये। आज डीएमसी के पूर्व प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, पूर्व वाइस प्रेसिडेंट लक्ष्मी माछी, काउंसिलर रक्षा टंडेल ने भी इस सभा में उपस्थित रहकर माछी समाज के साथ होने का स्पष्ट संदेश दिया। आज की बैठक में कई युवाओं ने अपने-अपने विचार प्रकट किये। कुल मिलाकर देखा जाये तो माछी समाज पर आये इस संकट पर उनके आह्वान पर दमणवासियों ने स्वयंभू उपस्थित रहकर सहयोग का आह्वान किया।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS