प्रशासक प्रफुल पटेल के ऐलान का अमल: दमण के 20 स्थानों पर भूमिगत जलसंचय का प्रोजेक्ट शुरू - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Monday, October 23, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • प्रशासक प्रफुल पटेल के ऐलान का अमल: दमण के 20 स्थानों पर भूमिगत जलसंचय का प्रोजेक्ट शुरू
    - दमण-दीव की आजादी के बाद पहली बार बहुमूल्य पानी को समुद्र में बह जाने से रोकने का शुरू हुआ अभियान
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 31 जुलाई। प्रशासक प्रफुल पटेल जो कहते हैं उसे अमल में भी लाते हैं यह बात फिर एक बार साबित हुई है। दमण में बारिश का पानी जगह-जगह जमा होता था और आखिरकार यह पानी समुद्र में बह जाता था। प्रशासक प्रफुल पटेल ने बारिश के बहुमूल्य पानी को भूमि के भीतर फिर से संचय करने के लिए 20 स्थानों पर भूमिगत जलसंचय प्रोजेक्ट (वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम) का ऐलान किया था उस पर अमल हो चुका है। दमण के ग्रामीण एवं शहरी विस्तार के ऐसे 20 स्थानों पर भूमिगत जलसंचय (वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम) शुरू हो चुका है। इन सभी स्थानों पर बरसात का पानी दमण की धरती में समा रहा है। इससे न सिर्फ जलजमाव की समस्या कम हो रही है बल्कि भूमिगत जल में नये जल का संचार हो रहा है। भूमिगत जलसंचय प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देते हुए दमण जिला पंचायत सीईओ चार्मी पारेख ने बताया कि प्रशासक प्रफुल पटेल जो कहते हैं वो करके भी दिखाते हैं। केन्द्रशासित प्रदेश दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली प्रशासक प्रफुल पटेल के ऐलान पर अमल शुरू करते हुए दमण प्रशासन ने बरसात के दौरान दमण में जलजमाव की जगह पर भूमिगत जलसंचय प्रोजेक्ट पर कार्य शुरू कर दिया है। दमण के शहरी एवं ग्रामीण विस्तारों में 20 जगह चिन्हित की गई है जहां वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाया जा रहा है। दमण के आरटीओ रोड के निकट सहित दमण के विभिन्न स्कूलों के पास जमा होने वाला बरसात का पानी अब जमीन में ही समा जायेगा। वहीं पानी रिचार्ज होकर बोरवेल के माध्यम से पीने के योग्य भी बनाया जायेगा, इस तरह के वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम पर कार्य शुरू हो गया है। प्रशासक प्रफुल पटेल ने दमण जिला पंचायत की सीईओ चार्मी पारेख को वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के प्रोजेक्ट का नोडल अधिकारी बनाया है। प्रशासक के आदेशानुसार सीईओ चार्मी पारेख ने एक टीम तैयार की। इस टीम ने सर्वे के दौरान दमण के शहरी एवं ग्रामीण विस्तारों में उन जगहों को चिन्हित किया जहां बरसात का पानी ज्यादा जमा होता है। चिन्हित जगहों पर हुए जलजमाव के पानी को किस तरह वाटर हार्वेस्टिंग के जरिये भूमि में पहुंचाया जाये इस पर कार्य शुरू हो गया है। इसी मानसून तक कार्य पूरा कर लिया जाएगा ताकि बारिश के पानी का जलसंचय हो सके। जिसमें सबसे पहले दमण आरटीओ के निकट मुख्यमार्ग पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाया गया, क्योंकि इस जगह पर सबसे ज्यादा बरसात का पानी जमा होता है। इसके साथ ही दाभेल स्कूल मुख्यमार्ग, दाभेल गेट के पास, वापी-दमण मेन रोड दाभेल, एचडीएफसी बैंक के पास कलारिया, भीमपोर पटेल फलिया के पास, भीमपोर एंकर कंपनी के पास, दुनेठा टांकी फलिया, दुनेठा मेन रोड करण कॉम्पलेक्स के पास, आरटीओ कार्यालय के सामने, कडैया-मांगेलवाड आंगनवाडी, गणेश मोरार के घर के पास कडैया-भंडारवाड, मगरवाडा-नवयुग फलिया, झरी स्कूल फलिया-मगरवाडा, दलवाडा चौकी फलिया, दमण-देवका रोड अशोक खेमाणी हाउस के सामने मरवड, बोरिया तालाब के निकट, वरकुंड-मिटनावाड, नानी दमण-मिटनावाड, मशाल चौक, दलवाडा स्कूल एवं वरकुंड कचीगाम रोड पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जा रहा है। वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से जलसंचय होने के साथ ही जलजमाव की समस्या भी हल होगी।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS