भाजपा नेता फतेह सिंह चौहान के खिलाफ आदिवासी के साथ धोखाधड़ी करने और जमीन हड़पने का मामला हुआ दर्ज - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Friday, December 15, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • भाजपा नेता फतेह सिंह चौहान के खिलाफ आदिवासी के साथ धोखाधड़ी करने और जमीन हड़पने का मामला हुआ दर्ज
    - दानह प्रशासन ने आदिवासियों की जमीनों को हडपने वाले भूमाफियाओं के खिलाफ शुरू की बडी कार्रवाई - भाजपा नेता की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उनके परिसरों पर दे रही है दबिश, लेकिन फतेह सिंह चौहान पुलिस की गिरफ्त से हुए फरार - एसडीपीओ रविन्द्र शर्मा ने फतेहसिंह चौहान के पुत्र अभिषेक चौहान से की पूछताछ
    असली आजादी ब्यूरो, सिलवासा 7 अक्टूबर। संघ प्रदेश दादरा नगर हवेली में पिछले कई वर्षों से भूमाफियाओं का आदिवासियों की जमीनों पर तिकड़म के जरिए कब्जा करने का जो काला कारोबार चलाया जा रहा था वह अब शायद प्रशासन नहीं होने देगा। इसी के तहत लगता है कि प्रशासन ने भूमाफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई का मन बना लिया है। जिसके तहत पहला निशाना भाजपा के बड़े नेता और दादरा नगर हवेली की बड़े चेहरे फतेह सिंह चौहान बने हैं। जिनके खिलाफ सिलवासा टी. एस. शर्मा द्वारा लिखित में शिकायत दर्ज कराई गई है जिसके बाद पुलिस ने इस मामले को 420, 468, 471, 121बी और एससी/एसटी एक्ट 1989 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जांच की पहली कड़ी में बीती रात पुलिस अधिकारियों और भारी संख्या में पुलिस जवानों का एक काफिला फतेह सिंह चौहान को गिरफ्तार करने उनके आवास हवेली पर गया। लेकिन फतेह सिंह चौहान पुलिस की कार्रवाई को भाप चुके थे और वे अपने आवास से फरार होने में कामयाब हो गए। वहीं दूसरी और पुलिस उनके कई ठिकानों पर दबिश देने की कोशिश करती रही लेकिन पुलिस के हाथ फतेह सिंह चौहान नहीं आए। जबकि पुलिस ने उनके पुत्र अभिषेक सिंह चौहान को सिलवासा कोर्ट में नोटिस देने की कोशिश की लेकिन उन्होंने नोटिस लेने से मना कर दिया। वहीं दूसरी ओर सूत्रों का कहना है कि इसके बाद अभिषेक सिंह चौहान को एसडीपीओ रविन्द्र शर्मा के सामने पेश किया गया जहां उन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया। दादरा नगर हवेली के पुलिस अधीक्षक शरद भास्कर दराडे ने असली आजादी संवाददाता के साथ बातचीत करते हुए बताया कि यह मामला 2009 का है, जब फतेह सिंह चौहान ने हवेली इंटरप्राइजेज नामक अपनी फर्म से सिली के रहने वाले एक आदिवासी की जमीन फर्जी कागजातों के आधार पर अपने नाम करा ली और प्रशासन को इस मामले में गुमराह किया। इसके साथ ही जमीनधारक आदिवासी के साथ भी धोखाधड़ी की। कागजातों की जांच के बाद सिलवासा के मामलतदार टी. एस. शर्मा की शिकायत पर सिलवासा पुलिस ने मामला दर्ज कर फतेह सिंह चौहान को पकड़ने की कोशिश की है लेकिन अभी तक वह पुलिस की गिरफ्त में नहीं आए हैं। दानह एसपी शरद भास्कर दराडे ने कहा कि प्रदेश की जनता या आदिवासियों को किसी भी तरह की कोई परेशानी होती है तो वे नि:संकोच पुलिस थाने में आकर अपनी बात रख सकते है। पुलिस हमेशा ही जनता हित में कार्यरत रहती है और रहेगी। पुलिस द्वारा कल से की जा रही छापेमारी और दबिश के बीच फतेह सिंह चौहान से भी उनका पक्ष जानने की कोशिश की गई लेकिन वह उपलब्ध नहीं हो सके जिससे अभी तक उनका पक्ष नहीं मिल सका है।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS