आदिवासी एकता परिषद के बैनर तले देशभर से आए आदिवासी समाज के लोगों ने रैली निकालकर प्रशासन के समक्ष रखी अपनी मांगें - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Friday, December 15, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • आदिवासी एकता परिषद के बैनर तले देशभर से आए आदिवासी समाज के लोगों ने रैली निकालकर प्रशासन के समक्ष रखी अपनी मांगें
    - आदिवासी एकता परिषद की इस महारैली में गुजरात, झारखंड, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों के आदिवासी समाज के लोग शामिल हुए
    असली आजादी ब्यूरो, सिलवासा 16 नवंबर। संघ प्रदेश दादरा नगर हवेली में पिछले कई वर्षों से कार्यरत आदिवासी एकता परिषद ने आज देशभर से आए आदिवासी समाज के लोगों के साथ मिलकर देशभर में आदिवासी विस्तार में संविधान में उल्लेखित पांचवी अनुसूची को लागू करने की मांग करने के साथ-साथ प्रकृति संरक्षण एवं प्राकृतिक संसाधनों पर आदिवासी समाज के प्रथम हक की आवाज बुलंद की। आज पूरे सिलवासा में हजारों की संख्या में आदिवासी समाज के लोग एकत्रित हुए। दादरा नगर हवेली आदिवासी एकता परिषद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रभु टोकिया ने बताया कि आज आयोजित की गई आदिवासी एकता परिषद की इस महारैली में गुजरात, झारखंड, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों के आदिवासी समाज के लोग शामिल हुए। इस रैली में इस बात को रेखांकित करने की कोशिश की गई कि देशभर के 20 राज्यों में रहने वाले आदिवासी समाज के लोगों की सीमाएं खत्म कर आदिवासी समाज को एक बैनर के नीचे लाया जाये। साथ ही आदिवासी विस्तार में संविधान में निर्धारित की गई पांचवी अनुसूची को लागू किया जाए जिससे की प्रकृति के संरक्षण के साथ-साथ आदिवासी संस्कृति एवं कला तथा आदिवासी समाज को भी संरक्षित रखा जाए। दादरा नगर हवेली के प्रवेश द्वार नरोली चेकपोस्ट से हजारों की संख्या में आदिवासी समाज के लोग एक परिधान में दोपहिया वाहनों एवं चार पहिया वाहनों से एक विशाल जनसमूह के साथ सिलवासा शहर के शहीद चौक पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने प्रशासन के प्रतिनिधि को बुलाने की मांग की। काफी जद्दोजहद के बाद जिला प्रशासन की तरफ से जिलाधिकारी के अधीक्षक मिथुन राणा ने शहीद चौक पहुंचकर आदिवासी समाज के लोगों की मांगों को सुना और प्रशासन द्वारा आदिवासी समाज की मांग पर किए गए कार्यों की जानकारी दी। इसके पश्चात हजारों की संख्या में आदिवासी समाज के लोगों ने सिलवासा के किलवणी नाका पहुंचकर किलवणी नाका का नाम जननायक बिरसा मुंडा के नाम पर रखने की मांग की। इसके साथ ही बिरसा मुंडा की जन्म शताब्दी पर आयोजित किए गए इस समारोह का समापन हुआ। इस अवसर पर पूरी महारैली का संचालन आदिवासी एकता परिषद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रभु टोकिया ने किया। आज की महारैली में आदिवासी एकता परिषद के राष्ट्रीय महासचिव अशोक चौधरी, दादरा नगर हवेली आदिवासी एकता परिषद के अध्यक्ष विनय कुमार, पूर्व अध्यक्ष राजेश पटेल, गुजरात से अशोक चौधरी, महाराष्ट्र से कालूराम धोधाडे, मध्यप्रदेश से पोरलाल खरटे, गुजरात से डॉ. शांतिकर वासवा, झारखंड से मुकेश बुरूला समेत बडी संख्या में आदिवासी जनसमुदाय मौजूद रहा।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS