दमण पुलिस ने बिल्डर नजीर डिंगमार के कार्यालय पर फायरिंग करने वाले आरोपियों को धरदबोचा - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Friday, December 15, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दमण पुलिस ने बिल्डर नजीर डिंगमार के कार्यालय पर फायरिंग करने वाले आरोपियों को धरदबोचा
    - बिल्डर नजीर डिंगमार के कार्यालय पर फायरिंग करने वाला मास्टर माइंड निकाला अपहरण का जेल में बंद आरोपी इजहार शेख - छीरी के 3 परप्रांतीय लड़कों को नजीर डिंगमार के ऑफिस पर फायरिंग करने के लिए इजहार शेख ने दी थी 2 लाख रूपए की सुपारी - आईजीपी बी. के. सिंह एवं एसपी सेजू पी. कुरूवीला के मार्गदर्शन में पीआई भरत पुरोहित की टीम ने कार्रवाई को दिया अंजाम
    असली आजादी ब्यूरो, 29 नवंबर। दमण के जाने-माने बिल्डर नजीर डिंगमार के खारीवाड स्थित वेलकम अलहराम टावर पर गत दिनों हुई फायरिंग की वारदात का खुलासा हो गया है। दमण पुलिस ने इस वारदात में लिप्त 3 आरोपियों को धरदबोचा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, 19 नवंबर को शिकायतकर्ता झाकारिया नजीर डिंगमार ने नानी दमण पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवायी है कि उनके पिता नजीर डिंगमार के ऑफिस वेलकम अलहरम टावर के नीचे ग्राउंड फ्लोर पर आवाज आयी है। ऑफिस में दो शटर लगी हुई है। वह दोनों शटर बंद हालत में है, इन दोनों शटर पर कोई अज्ञात व्यक्ति फायरिंग करके भाग गया है। शिकायतकर्ता की शिकायत के आधार पर नानी दमण पुलिस स्टेशन ने एफआईआर नं.160/17 की धारा 27 आर्म्स एक्ट 1959 के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी थी। दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली डीआईजीपी ब्रजेश कुमार सिंह के मार्गदर्शन एवं एसपी सेजू पी. कुरुविला एवं एसडीपीओ रविकुमार शर्मा के दिशानिर्देश में नानी दमण पुलिस स्टेशन एसएचओ भरत पुरोहित के नेतृत्व में पीएसआई चुनीलाल सोलंकी, हेड कांस्टेबल कृष्ण विजय गोहिल, पुलिस कांस्टेबल सुमित भक्ति, हरेश सोलंकी, स्नेहल सोलंकी, जिज्ञेश पटेल, केवल पटेल, संदिल सिंह की अलग-अलग टीम बनाकर जांच शुरू की गई। इस संदर्भ में संघ प्रदेशों के आईजीपी बी. के. सिंह ने दमण पुलिस मुख्यायलय में प्रेस कांफ्रेंस कर बताया कि पुलिस की अलग-अलग टीम ने कई विस्तारों में जांच शुरू की। साथ ही पुलिस की टीम ने वेलकम अलहराम टावर के नजदीकी आसपास के विस्तार के सीसीटीवी फुटेज चेक किये गये। खुफिया जानकारी और टेक्नीकल संसाधनों की मदद से वापी, छीरी से तीन व्यक्ति सैयद कलीम अलीमुदीन उर्फ हकला (24), शशिकांत इंद्रजीत मिश्रा (23), श्रीजेस संजय सिंह उर्फ भोलू (18) को शक की बुनियाद पर नानी दमण पुलिस स्टेशन लाया गया। पुलिस ने जब तीनों ही युवकों से पूछताछ की तो तीनों युवक ने वेलकम अलहरम टावर में फायरिंग करने की बात कबूली। पुलिस ने तीनों ही आरोपियों को अरेस्ट करने के साथ ही श्रीजेस संजय सिंह उर्फ भोलू के घर से देशी कट्टा एवं एक जिंदा कारतूस बरामद किया। इस वारदात को अंजाम देने के लिए उन्होंने जो मोटर साइकिल इस्तेमाल की थी पुलिस ने वो भी बरामद कर ली है। जिसका रजिस्ट्रेशन नं. जीजे-15 बीएन-9801 एवं एक मोबाइल ओपो कंपनी का बरामद किया गया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि नजीर डिंगमार अपहरण मामले में नानी दमण पुलिस स्टेशन गुनाह नं. 136/16 के अपराधी इजहार अहमद सलाऊदीन शेख जो कि हाल में ज्युडिशयल कस्टडी सबजेल मोटी दमण में विचाराधीन है। जिसने नजीर डिंगमार एवं उनके परिवार को डराने के लिए दो लाख रुपये फायरिंग की सुपारी दी थी और जिसके बाद उपरोक्त तीनों आरोपियों ने वारदात को अंजाम दिया। उपरोक्त आरोपी सयेद कलीम अलीमुदीन उर्फ हकला आगे भी नानी दमण पुलिस स्टेशन के दो मामलों में गिरफ्तार हो चुका है। जिसमें एक रिकवरी और नकद रुपये की चोरी का केस रजिस्टर है। दमण पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 120 (बी) के तहत आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने तीनों आरोपियों को 7 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा है। बता दें कि नजीर डिंगमार के वेलकम अलहराम टावर पर हुई फायरिंग के पीछे नजीर डिंगमार का अपहरण करने वाले आरोपी इजहार सलाउद्दीन शेख का हाथ था। उसने नजीर डिंगमार को डराने के लिए वेलकम अलहरम टावर पर दो राउंड फायरिंग करवायी थी। बताया जा रहा है कि फायरिंग के जरिये इजहार नजीर डींगमार को अपहरण केस से पीछे हटने और गवाहों को भयभीत करना चाहता था। ताकि मुकदमे की पैरवी कमजोर हो और वो जेल से छूट जाये। लेकिन होनी को कुछ और ही मंजूर था, फायरिंग करने वाले भी पकड़े गये और फायरिंग की सुपारी देने वाला भी बेनकाब हो गया।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS