विधि विशाल टंडेल ने स्वामी विवेकानंद सभागार में अरंगेत्रम पेशकर दर्शकों को किया मंत्रमुग्ध - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Saturday, November 18, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • विधि विशाल टंडेल ने स्वामी विवेकानंद सभागार में अरंगेत्रम पेशकर दर्शकों को किया मंत्रमुग्ध
    - विधि टंडेल ने अरंगेत्रम की प्रस्तुति देकर गुरू शिव कुमार पिल्लई और कलागुरू हेमाक्षी एस. जोशी को दी गुरू दक्षिणा
    - अरंगेत्रम नृत्य पेश कर विधि टंडेल ने मंच पर गुरूओं का लिया आशीर्वाद - सांसद लालू पटेल, जिला पंचायत प्रमुख सुरेश पटेल, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, पद्मश्री डॉ. एस. एस. वैश्य, डॉ. रामदास, उद्योगपति अनिल अग्रवाल सहित के महानुभावों ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का किया शुभारंभ - विधि टंडेल की अरंगेत्रम प्रस्तुति को दर्शकों ने तालियों की गडगडाहट से सराहा - विशाल टंडेल एवं उनकी धर्मपत्नी अपनी बेटी विधि टंडेल की अरंगेत्रम प्रस्तुति को देखकर हुए भावविभोर
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 10 नवंबर। भरतनाट्यम की परंपरा है कि जब शिष्य एकल प्रस्तुति के लायक हो जाता है तो उसे गुरू के सामने फाइनल प्रस्तुति देना होती है जिसे अरंगेत्रम कहा जाता है। आज दमण के राजनैतिक अग्रणी एवं समाजसेवी डॉ. विशाल टंडेल की सुपुत्री विधि टंडेल ने स्वामी विवेकानंद सभागार में अपने गुरू शिव कुमार पिल्लई और कलागुरू हेमाक्षी एस. जोशी का आशीर्वाद लेकर अरंगेत्रम की प्रस्तुति देकर गुरू दक्षिणा दी। गुरू शिव कुमार पिल्लई और कला गुरू हेमाक्षी एस. जोशी ने भरतनाट्यम की इस अरंगेत्रम कडी को संगीत में सजाया। संगीत और वाद्ययं­त्रों की ताल पर विधि टंडेल ने अरंगेत्रम की प्रस्तुति से जहां गुरू का आशीर्वाद लिया वहीं गुरू दक्षिणा भी दी। विधि टंडेल ने भाव-भंगिमा और नृत्य विधियों को बडी तल्लीनता से पेश किया। विधि टंडेल ने नटराई, राग मल्लिका, राग भैरवी, बिन्द्रावनी जैसी शास्त्रीय और मोहक मुद्राओं के साथ चपलता का प्रदर्शन करके अरंगेत्रम में अपनी दक्षता दिखायी। विशाल टंडेल एवं उनकी धर्मपत्नी अपनी बेटी विधि टंडेल की अरंगेत्रम प्रस्तुति को देखकर भावविभोर हो गये। विधि टंडेल द्वारा अरंगेत्रम की प्रस्तुति से पहले स्वामी विवेकानंद ऑडिटोरियम में शाम 6 बजे दमण-दीव सांसद लालू पटेल, दमण जिला पंचायत प्रमुख सुरेश पटेल, दमण म्युनिसिपल प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, उद्योगपति अनिल अग्रवाल, पद्मश्री डॉ.एस. एस. वैश्य, डॉ. रामदास सहित के महानुभावों ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ कराया। इस अवसर पर सुलोचना अग्रवाल, डीएमसी वाइस प्रेसिडेंट लक्ष्मी माछी, धवल देसाई, सुरेश ओड, जिला पंचायत सदस्य तरूणा पटेल, काउंसिलर तमन्ना मिठाणी, काउंसिलर खुशमन ढीमर, काउंसिलर अनिल टंडेल, काउंसिलर जयंति पटेल, जोगी टंडेल, पंचायत सदस्य सोमा पटेल, धीरूभाई, पुष्पाबेन धुका, वकील सतीश मोडासिया, समीर मोडासिया, खुर्शीद मांजरा, रुद्रेश टंडेल, महेश पटेल, प्रदेश भाजपा महामंत्री वासू पटेल सहित की जानी-मानी शख्सियतों की उपस्थिति रही। पूरा सभागार संगीत भाव और तालियों की गडगडाहट से गूंज उठा। उल्लेखनीय है कि दक्षिण भारतीय लोकनृत्य भरतनाट्यम में अरंगेत्रम का बड़ा महत्व है। अरंगेत्रम सीखने के बाद विद्यार्थी पहली प्रस्तुति अपने गुरू का आशीर्वाद और गुरू दक्षिणा देते है। अरंगेत्रम की पहली सफल प्रस्तुति यह बताने के लिए भी होती है कि विद्यार्थी अरंगेत्रम की मंच पर प्रस्तुति देने में पारंगत हो चुकी है। विधि टंडेल ने आज अरंगेत्रम की परंपरागत प्रस्तुति देकर गुरू दक्षिणा के साथ ही अपने गुरूओं का आशीर्वाद लिया। साथ ही गुरूओं के प्रभावी संगीत एवं वाद्ययंत्रों की ताल पर विधि टंडेल ने बेहतरीन तरीके से मंच पर अरंगेत्रम पेश किया।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS