दमण-दीव विद्युत विभाग ने बिजली के दामों को 10 से 12 प्रतिशत घटाया - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Tuesday, September 26, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • दमण-दीव विद्युत विभाग ने बिजली के दामों को 10 से 12 प्रतिशत घटाया
    - प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में विद्युत विभाग ने इस वर्ष जनता को दी बडी राहत - घरेलू, कृषि, कॉमर्शियल एवं औद्योगिक बिजली दरों में भारी कटौती - घरेलू टेरिफ में गरीबों के लिए 0 से 50 यूनिट के स्लेब में बदलावकर 0 से 100 यूनिट करने से गरीब परिवारों को मिला फायदा - प्रशासक प्रफुल पटेल ने अगस्त 2016 में पदभार संभालने के साथ बिजली दरों में जनता को और रियायत देने का किया था फैसला - दमण-दीव विद्युत विभाग ने 5 सालों तक एक भी पैसा नहीं बढाने का रिकार्ड तोडते हुए छठवें वर्ष में 10 से 12 प्रतिशत बिजली के दाम घटाकर नया रिकार्ड बनाया
    दमण, 29 मई। दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल पटेल के सीधे मार्गदर्शन में दमण-दीव विद्युत विभाग ने इस वर्ष प्रदेश की जनता को बडी राहत देते हुए बिजली के दामों में 10 से 12 प्रतिशत तक की कमी की है। अगस्त 2016 में पदभार संभालने के साथ दमण-दीव विद्युत विभाग के प्रेजेंटेशन के समय प्रशासक प्रफुल पटेल ने यह मन बना लिया था कि विद्युत विभाग को और ज्यादा गतिशील एवं सक्षम बनाकर प्रदेश की जनता को बिजली दरों में और ज्यादा राहत दी जाये। दमण-दीव विद्युत विभाग ने पिछले 5 सालों का एक भी पैसा नहीं बढाने का रिकार्ड तोडते हुए घरेलू, कृषि, कॉमर्शियल एवं औद्योगिक बिजली के दामों में 10 से 12 प्रतिशत की कमी की है। दमण-दीव सहित केन्द्रशासित प्रदेशों में बिजली की दरों को तय करने वाले आयोग जेईआरसी ने दमण-दीव विद्युत विभाग के टेरिफ प्लान पर मंजूरी की मुहर लगा दी है। 2017-18 के लिए विभिन्न श्रेणियों में 10 पैसे से लेकर 25 पैसे तक राहत दी गई है। घरेलू दरों में 0 से 100 यूनिट तक अब 1.20 रुपये के स्थान पर 1.10 रुपया, 101 यूनिट से 200 यूनिट तक 1.80 रुपये के स्थान पर 1.60 रुपया, 201 से 400 यूनिट तक 2.20 रुपये के स्थान पर 1.95 रुपया, 401 से अनलिमिटेड यूनिट के लिए 2.55 रुपये के स्थान पर अब सिर्फ 2.30 रुपया, कृषि के लिए 10 एचपी तक 70 पैसे के स्थान पर 65 पैसा, 10 एचपी से 99 एचपी तक 1 रुपये के स्थान पर 90 पैसा, कॉमर्सियल टेरिफ में 1 से 100 यूनिट तक 2.65 रुपये के स्थान पर 2.40 रुपया, 101 यूनिट से अनलिमिटेड के लिए 3.65 रुपये के स्थान पर 3.25 रुपया, छोटे उद्योगों के लिए 3.50 रुपये के स्थान पर 3.10 रुपया, अन्य श्रेणी में 3.70 रुपये के स्थान पर 3.30 रुपया, एचटी इंडस्ट्रीज के लिए 4.70 रुपये के स्थान पर 4.15 रुपया, एचटी फेरो के लिए 4.55 रुपये के स्थान पर 4.10 (एलटी इंडस्ट्रीज के लिए फिक्स चार्ज 25 प्रति एचपी, एचटी इंडस्ट्रीज के लिए फिक्स चार्ज 105 प्रति केवीए, एचटी फेरो 275 प्रति केवीए ), पब्लिक लाइटिंग 4.20 रुपये के स्थान पर 3.75 रुपया, होर्डिंग एवं साइन बोर्ड रु.7 के स्थान पर रु.6.20 तय किया गया है। इस टेरिफ में गरीब जनता की उस मांग पर खास करके गौर किया गया जिसमें कई बार जन सुनवाई में भी कहा गया था कि गरीबों के लिए 0 से 50 यूनिट तक के स्लेब को 0 से 100 यूनिट कर देना चाहिए। इस बार प्रथम स्लेब में 0 से 100 यूनिट तक कर दिया गया है। गौरतलब है कि दमण-दीव विद्युत विभाग ने 2013 से 2017 तक एक पैसा भी भाव नहीं बढाया है। इसके बावजूद करोडों रुपये का प्रोफिट हासिल किया है। लेकिन इस वर्ष तो दमण-दीव विद्युत विभाग ने प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में जो करिश्मा कर दिखाया है इससे जनता के साथ-साथ व्यापारियों, उद्योगपतियों, किसानों एवं गरीब परिवारों को भी बिजली के भाव घटने का लाभ मिला है। दीगर बात है कि पूरे देश में पिछले 5 सालों में 20 प्रतिशत से लेकर 60 प्रतिशत बिजली के दाम बढे हैं। जबकि कुशल राजनैतिक प्रशासक प्रफुल पटेल द्वारा दमण-दीव विद्युत विभाग को दिये गये मार्गदर्शन एवं सुझावों के चलते बिजली के दामों में भारी कमी हुई है जो कि प्रदेश के लिए अपने आप में बडी उपलिब्ध मानी जायेगी। प्रशासक प्रफुल पटेल के इस अभियान में तत्कालीन विद्युत सचिव जे.बी. सिंह, वर्तमान विद्युत सचिव एस.एस. यादव की भी भूमिका सराहनीय रही है।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS