प्रशासक प्रफुल पटेल ने अवैध शराब तस्करी पर पुलिसिया कार्यवाही की व्यवस्था लागू करने की शुरू की प्रक्रिया - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Saturday, November 18, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • प्रशासक प्रफुल पटेल ने अवैध शराब तस्करी पर पुलिसिया कार्यवाही की व्यवस्था लागू करने की शुरू की प्रक्रिया
    - दमण-दीव की आजादी के बाद पहली बार पुलिस को मिलेगा अवैध शराब के खिलाफ कार्यवाही का अधिकार - गुजरात चुनाव से पहले भी प्रशासन जारी कर सकता है नोटिफिकेशन : सूत्र - गोवा-दमण-दीव राज्य के समय से पुलिस को शराब के खिलाफ कार्यवाही से रखा गया था वंचित
    दमण। केन्द्रशासित प्रदेश दमण-दीव की आजादी के बाद पहली बार पुलिस को भी अवैध शराब के खिलाफ कार्यवाही करने का अधिकार मिल सकता है। सूत्रों की माने तो प्रशासक प्रफुल पटेल ने एक्साइज विभाग के साथ-साथ पुलिस विभाग को भी अवैध शराब एवं शराब से जुडे मामलों कार्यवाही करने का अधिकार दिलाने की दिशा में प्रक्रिया शुरू करवाई है। सूत्र बताते है कि दमण-दीव पुलिस के पास अवैध शराब को लेकर कार्यवाही का अधिकार आ जाने के बाद दमण और दीव में चोरी-छिपे नकली शराब बनाने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई कर पायेगी। साथ ही साथ दमण एवं दीव में अवैध शराब के साथ बेखौफ घूम रहे लोगों पर भी इससे शिकंजा कसेगा। सूत्रों के मुताबिक, प्रशासक प्रफुल पटेल ने दमण-दीव पुलिस विभाग से अवैध शराब के खिलाफ कार्रवाई का अधिकार देने बावत एक फाइल भी शुरू कराई है। बताया जाता है कि गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले ही शायद प्रशासन दमण-दीव-गोवा एक्साइज एक्ट में सुधारकर एक नोटिफिकेशन जारी कर देगा। जिसके बाद पुलिस भी अवैध शराब के व्यापार, नकली शराब बनाने के रैकेट तथा शराब तस्करी के खिलाफ आईपीसी की धारा के तहत कार्यवाही कर पायेगी। गौरतलब है कि दमण-दीव में अब तक अवैध शराब के खिलाफ कार्यवाही करने का पुलिस को अधिकार नहीं था। जिसके चलते प्रदेश में 90 के दशक से वर्ष 2000 तक नकली शराब बनाने का कारोबार जोरशोर से चला था। 2012-13 में फिर एक बार नकली शराब बनाने का रैकेट शुरू किया गया। इस रैकेट का भंडाफोड कई बार दमण पुलिस ने किया, लेकिन पुलिस के पास अधिकार नहीं होने के चलते यह सभी मामले पुलिस ने मुद्दा-माल के साथ आरोपियों को पकडकर एक्साइज विभाग को सुपुर्द कर दिया था। लेकिन उस मामले में आगे क्या हुआ यह शायद कोई नहीं जानता है? इसी तरह पुलिस ने 2014-15 और 2016 में भी शराब तस्करी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे भी आगे की कार्रवाई के लिए एक्साइज विभाग को सौंप दिया था। लेकिन ऐसे मामलों में भी आगे क्या कार्यवाही हुई है, उसका भी अब तक खुलासा नहीं हुआ है। ऐसे में प्रशासक प्रफुल पटेल द्वारा पुलिस को अवैध शराब के खिलाफ कार्यवाही का अधिकार देना पुलिस के लिए बहुत बडी जिम्मेदारी के साथ एक चुनौती भी है। गुजरात चुनाव से पहले अगर दमण पुलिस को यह जिम्मेदारी मिल जाती है तो उनकी जिम्मेदारी और बढ जायेगी।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS