दीव म्युनिसिपल में 13 में से 10 सीटें जीतकर कांग्रेस ने शासन रखा बरकरार - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Tuesday, July 25, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • BREAKING NEWS : ब्रेकिंग न्यूज दीव जिला पंचायत सदस्य धनीबेन सोलंकी ने किया खुलासा:मैंने भाजपा से नहीं दिया था इस्तीफा, बिपीन शाह और शशिकांत सोलंकी ने धोखे से लिया गया था इस्तीफा
    दीव म्युनिसिपल में 13 में से 10 सीटें जीतकर कांग्रेस ने शासन रखा बरकरार
    - दीव म्युनिसिपल चुनाव में बाहुबली साबित हुए हितेश सोलंकी - भाजपा के खाते में आई 3 सीटें - भाजपा का डीएमसी चुनाव का प्रेसिडेंट चेहरा किरीट वाजा भी चुनाव हारे - शामजी सोलंकी की धर्मपत्नी कमलाबेन भी चुनाव हारी - भव्येश चौहाण को भी हार का मुंह देखना पडा - खारवा समाज ने पार्टीवाद से ऊपर उठकर हितेश सोलंकी के नाम पर दिया जनादेश - कांग्रेसी खेमे में खुशी का माहौल - पिछले चुनाव में भाजपा को सिर्फ एक सीट मिली थी इस बार 3 मिली - हितेश सोलंकी ने दीव शहर की जनता का माना आभार
    दीव, 03 जुलाई। दीव म्युनिसिपल के चुनाव में हितेश सोलंकी सही मायने में बाहुबली साबित हुए हैं। हितेश सोलंकी ने अपने बलबूते 13 में से 10 सीटों पर जीत का परचम लहराकर अपनी लोकप्रियता फिर एक बार साबित कर दी है। कांग्रेस की पैनल से चुनाव लड रहे हितेश सोलंकी ने पूरे प्रचार के दौरान सिर्फ अपने चेहरे को ही इस्तेमाल किया था। पूरी पैनल के उम्मीदवारों के साथ सिर्फ और सिर्फ हितेश सोलंकी की ही तस्वीर छायी हुई थी। दीव की जनता ने हितेश सोलंकी द्वारा किये गये विकास कार्यों एवं आम आदमी के लिए दिये गये समय को याद रखते हुए फिर एक बार दीव म्युनिसिपल की कमान हितेश सोलंकी के हाथों में ही सौंपी। 13 सीटों वाली म्युनिसिपल काउंसिल में 10 सीटों पर विजय प्राप्त कर अब हितेश सोलंकी फिर एक बार दीव म्युनिसिपल प्रेसिडेंट की कमान संभालेंगे। सुबह चुनाव परिणाम आने के साथ ही कांग्रेस में खुशी की लहर देखने को मिली थी। दमण-दीव कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल ने इस जीत के लिए हितेश सोलंकी और उनकी टीम को अभिनंदन दिया है। दमण-दीव कांग्रेस उपाध्यक्ष नरसिंह चारणिया, दीव जिला कांग्रेस प्रमुख उमेश बामणिया तथा अन्य दीव के कांग्रेसियों ने जीत के जश्न में शामिल होकर हितेश सोलंकी और उनकी पूरी टीम को बधाईयां दी है। दूसरी ओर भाजपा के खेमे में निराशा छायी हुई है। दीव म्युनिसिपल चुनाव में भाजपा का चेहरा माने जाने वाले किरीट वाजा को भी हार का सामना करना पडा है। दीव म्युनिसिपल चुनाव में हुई हार के बाद किरीट वाजा ने दमण-दीव भाजपा उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। दीव के पुराने राजनैतिक खिलाडी शामजी सोलंकी की धर्मपत्नी कमलाबेन को भी हार का मुंह देखना पडा है। भव्येश चौहाण को भी हार का सामना करना पडा है। हालांकि 2012 के म्युनिसिपल चुनाव में भाजपा पैनल का सिर्फ एक उम्मीदवार ही जीता था। जबकि इस बार कम से कम भाजपा ने 3 सीटें जीतकर विपक्ष में बैठने की हैसियत तो प्राप्त की है। भाजपा की हार के लिए हितेश सोलंकी के सामने किरीट वाजा को आगे करना, खारवा नेताओं को दरकिनार करना, कुछ सीटों पर भाजपा के भीतरघातियों द्वारा नुकसान पहुंचाना तथा नेशनल हाईवे का मुद्दा भी कुछ हद तक नुकसान कर गया। भाजपा हितेश सोलंकी का मुकाबला कर सकें ऐसा कोई खारवा नेता खडा नहीं कर पायी। कुल मिलाकर देखा जाये तो हितेश सोलंकी ने 5 साल के बाद फिर एक बार अपनी राजनैतिक ताकत को साबित किया है।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS