प्रदूषण नियंत्रण समिति के अध्यक्ष डॉ. दीपक कुमार ने गुजरात के अपर मुख्य सचिव अरविंद अग्रवाल को लिखा पत्र - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Monday, September 24, 2018
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • प्रदूषण नियंत्रण समिति के अध्यक्ष डॉ. दीपक कुमार ने गुजरात के अपर मुख्य सचिव अरविंद अग्रवाल को लिखा पत्र
    - दमणगंगा नदी के प्रदूषण के मुद्दे पर प्रशासन एक्शन मोड में - पत्र के जरिये डॉ. दीपक कुमार ने वापी की औद्योगिक ईकाईयों द्वारा दमणगंगा नदी में छोडे जाने वाले अपशिष्ट एवं जहरीले पदार्थों के मसले से कराया अवगत - वापी जीआईडीसी की सीईटीपी, जीएचसीएल समेत की औद्योगिक ईकाईयों से छोडे जाने वाले प्रदूषित पदार्थ मानव एवं समुद्री जीवों के लिए हो रहे है जानलेवा साबित : प्रदूषण नियंत्रण समिति के अध्यक्ष
    - डॉ. दीपक कुमार ने गुजरात के अपर मुख्य सचिव अरविंद अग्रवाल से इस मामले की जांच करने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने का किया आग्रह - डॉ. एस. बी. दीपक कुमार द्वारा इस मुद्दे पर उठाये गये अभिनव प्रयास से दमणगंगा नदी के जल की गुणवत्ता में आयेगा व्यापक सुधार
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 30 दिसंबर। दमण की जीवनरेखा समान दमणगंगा नदी के प्रदूषण का मसले पर दमण प्रशासन ने एक्शन लिया है। इसी मसले को लेकर केन्द्रशासित प्रदेश दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली के प्रदूषण नियंत्रण समिति के अध्यक्ष डॉ. एस. बी. दीपक कुमार ने गुजरात के अपर सचिव अरविंद अग्रवाल को पत्र लिखकर वापी की औद्योगिक ईकाईयों द्वारा दमणगंगा नदी में छोडे जाने वाले अपशिष्ट और जहरीले पदार्थों से अवगत कराया है। उल्लेखनीय है कि वापी एशिया का सबसे बडा औद्योगिक हब है। यहां कई प्रकार की औद्योगिक ईकाईयां है। इनमें से कई बडी औद्योगिक ईकाईयों सुरक्षा मानकों को ताक पर रखकर खुले आम दमणगंगा नदी में अपशिष्ट पदार्थों को खपाने का कार्य कर रही है। इससे एक ओर जहां समुद्री जीवों को नुकसान हो रहा है। वहीं दूसरी ओर दमण और इसके आसपास निवास करने वाले लोगों के स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड रहा है, जो स्वास्थ्य के प्रति खतरा पैदा हो गया है। इसी गंभीर मसले पर संघ प्रदेशों के प्रदूषण नियंत्रण समिति के अध्यक्ष डॉ. एस. बी. दीपक कुमार ने गुजरात राज्य के अपर मुख्य सचिव अरविंद अग्रवाल को अवगत कराते हुए बताया है कि प्रदूषित अपशिष्ट मुख्य रूप से वापी जीआईडीसी स्थित सीईटीपी, जीएचसीएल आदि औद्योगिक ईकाईयों द्वारा छोडा जा रहा है जो मानव एवं समुद्री जीवों के लिए जानलेवा साबित हो रहा है। इसी को लेकर 26 दिसंबर 2017 को दमणगंगा नदी के जल के नमूने एकत्रित किये गये है, जिनकी रिपोर्ट से अतिशीघ्र गुजरात सरकार को अवगत कराया जाएगा। इस संवेदनशील मुद्दे पर गहन चिंतन करते हुए प्रदूषण नियंत्रण समिति के अध्यक्ष डॉ. एस. बी. दीपक कुमार ने गुजरात के अपर मुख्य सचिव अरविंद अग्रवाल से इस मामले की जांच करने और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने का आग्रह किया है, ताकि इस भयावह स्थिति पर नियंत्रण पाया जा सके और दमणगंगा नदी के जल की गुणवत्ता को बेहतर बनाया जा सके। इससे निश्चय ही संघ प्रदेश दमण और गुजरात के लोगों के जीवन को बेहतर बनाया जा सकेगा। संघ प्रदेश दमण-दीव प्रशासन प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में संघ प्रदेश दमण और आसपास बसने वाले लोगों को उत्तम स्वास्थ्य के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कटिबद्ध है। इसी दिशा में डॉ. एस. बी. दीपक कुमार द्वारा उठाया गया यह कदम एक अभिनव प्रयास है जिसके जरिये आने वाले समय में दमणगंगा नदी के जल की गुणवत्ता में व्यापक सुधार आने की संभावना है।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS