विदेशी मामलों से संबंधित संसदीय समिति ने दीव के मछुआरों के साथ की बैठक - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Saturday, November 18, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • विदेशी मामलों से संबंधित संसदीय समिति ने दीव के मछुआरों के साथ की बैठक
    - संसदीय समिति के चेयरमैन डॉ. शशि थरूर की अध्यक्षता में मछुआरों की विभिन्न समस्याओं पर हुई चर्चा - वित्त सचिव जे. बी. सिंह, कलेक्टर पी. एस. जानी, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल, दीव म्युनिसिपल प्रमुख हितेश सोलंकी, जिला पंचायत प्रमुख शशिकांत सोलंकी, माछीमार एसो.,जनप्रतिनिधि एवं मछुआरों की रही उपस्थिति
    दीव 04 मई। विदेशी मामलों से संबंधित संसदीय समिति ने आज दीव का दौराकर मछुआरों के साथ बैठक कर उनकी समस्याओं एवं जरुरतों को जाना। संसदीय समिति आज दोपहर को दीव एयरपोर्ट पर पहुंची जहां पर उनका भव्य स्वागत किया गया। संसदीय समिति में चेयरमैन डॉ. शशि थरूर, गुरजीत सिंह ऑजला, प्रोफेसर रिचर्ड हेय, मगांती वेंकटेश्वर राव, मोहम्मद सलीम, डॉ. मामताज संघमिता, राज्यसभा सदस्यों में चुनीभाई कानजीभाई गोहेल, अमर सिंह तथा लोकसभा सचिवालय के डॉ. राम राज राय, जन्मेश सिंह, श्याम चरल धोन्डीयाल तथा कुमारी नेहा मंशारमाणी शामिल है। संसदीय समिति के कृष्णा बिच रिसोर्ट पहुंचने पर कृष्णा बिच रिसोर्ट के मालिक हरेश रामजी चुलावाला ने संसदीय समिति का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। संसदीय समिति के चेयरमैन डॉ. शशि थरूर की अध्यक्षता में वणाकाबारा कम्युनिटि हॉल में मछुआरों, अग्रणियों एवं माछीमार एसोसिएशन के साथ बैठक आयोजित हुई। इस बैठक में माछीमार एसोसिएशन द्वारा संसदीय समिति के सदस्यों का शॉल ओढाकर एवं पुष्पगुच्छ से स्वागत किया गया। इस बैठक में वित्त सचिव जे. बी. सिंह, कलेक्टर पी. एस. जानी, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल, दीव म्युनिसिपल प्रमुख हितेश सोलंकी, जिला पंचायत प्रमुख शशिकांत सोलंकी, माछीमार एसो.,जनप्रतिनिधि एवं मछुआरों की उपस्थिति रही। इस बैठक में वणाकबारा माछीमार एसोसिएशन की ओर से लक्ष्मण जीवा सोलंकी, दयाराम भीखा सोलंकी एवं उमेश रामा ने संसदीय समिति के समक्ष मछुआरों की समस्याओं को रखते हुए कहा कि पाकिस्तान मरीन सिक्योरिटी द्वारा भारतीय मछुआरों को पकडकर उनकी बोट के साथ उन्हें ले जाया जाता है। पाकिस्तान की जेल में मछुआरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पडता है। भारत सरकार द्वारा मछुआरों को मिलने वाली सहायता मछुआरों तक नहीं पहुंच पाने की भी बात कही। जो रकम दी जाती है वह बहुत कम है, इसे बढाया जाये। मछुआरों ने बताया कि पाकिस्तान मरीन सिक्योरिटी भारतीय सीमा में आकर भारतीय मछुआरों को पकड कर ले जाते है, जो अत्यंत गंभीर मुद्दा है। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय मछुआरों को छुडाने की दिशा में कदम उठाने की मांग की। मछुआरों ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से उन्होंने राहत की मांग की थी, राहत फंड दिया गया था। जिसमें 5 लाख बोट के लिए और 3 लाख मछुआरों के लिए दिया गया था। इस बैठक में संसदीय समिति के समक्ष पाकिस्तान की जेल से लौटे दीव के मछुआरों ने अपनी आपबीती भी सुनाई। साथ ही पाकिस्तान की जेल में बंद मछुआरों के परिजनों की समस्याओं को भी संसदीय समिति ने सुना। इस मौके पर संसदीय समिति के अध्यक्ष डॉ. शशि थरुर ने माछीमारों एवं उनके परिजनों को आश्वासन देते हुए कहा कि हम अपनी कमेटी की ओर से आवश्यक कार्यवाही करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी समस्याओं को हम अपनी फाइल में शामिल कर आगे भेजेगें। उन्होंने कहा कि हम मछुआरों की समस्याओं को जानने के लिए ही उनके पास आये हुए है। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए अमर सिंह ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा भारतीय मछुआरों को पकडने एवं भारतीय सैनिकों पर हमले करने की नापाक कोशिश बार-बार की जाती है जो काफी दुख की बात है। अमर सिंह ने कहा कि पाकिस्तान का हमेशा दोहरा चेहरा सामने आया है। इस बैठक में माछीमार एसो. प्रमुख दयाराम भीखा ने संसदीय समिति को आवेदन पत्र सौंप मछुआरों की समस्याएं बताई। संसदीय समिति ने अधिकारियों के साथ भी बैठक आयोजित की। इसके बाद संसदीय समिति के सदस्यों ने दीव के पर्यटन स्थलों का भी दौरा किया।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS