प्रशासक प्रफुल पटेल ने दमण के बरसाती जलजमाव वाले स्थानों पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का दिया निर्देश - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Tuesday, July 25, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • BREAKING NEWS : ब्रेकिंग न्यूज दीव जिला पंचायत सदस्य धनीबेन सोलंकी ने किया खुलासा:मैंने भाजपा से नहीं दिया था इस्तीफा, बिपीन शाह और शशिकांत सोलंकी ने धोखे से लिया गया था इस्तीफा
    प्रशासक प्रफुल पटेल ने दमण के बरसाती जलजमाव वाले स्थानों पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का दिया निर्देश
    - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ग्राउंड वाटर रिचार्ज अभियान से जुडेगा दमण
    - दमण के स्कूलों, सरकारी इमारतों, सोसायटियों एवं कुछ मुख्य मार्गों पर बरसाती पानी के जमाव की दो दशक पुरानी हैं समस्या - प्रशासनिक अधिकारियों ने दमण के जलजमाव स्थलोें का सर्वे किया शुरू: जल्द होगा टेंडर जारी
    दमण 28 जून। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मन की बात में ग्राउंड वाटर रिचार्ज के लिए वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का जो आह्वान कर अभियान शुरू करने की सलाह दी थी, उस पर केन्द्रशासित प्रदेश दमण ने कदम बढा दिया है। प्रशासक प्रफुल पटेल ने दमण के लिए निर्देश जारी किया है कि जितने भी बरसाती पानी के जलजमाव वाले स्थल है उस सभी स्थलों का सर्वे कर उसे चयनित किया जाये। फिर उन सभी स्थलों पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जाये। वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम आधुनिक पद्धति से स्थापित किया जायेगा। साथ ही साथ इसी जगह पर ट्यूबेल की भी व्यवस्था की जायेगी, ताकि भविष्य में जरूरत पडने पर इसी स्थान से पानी लिया जा सकें। प्रशासक प्रफुल पटेल के आदेशानुसार संघ प्रशासन के अधिकारियों ने दमण के विभिन्न बरसाती जलजमाव वाले स्थलों का सर्वे शुरू कर दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, 70 प्रतिशत स्थल चयनित किये गये है जहां पिछले दो दशक से जलजमाव की समस्या थी। सूत्र यह भी बताते है कि कुछ ही दिनों में इस प्रोजेक्ट का टेंडर भी जारी हो जायेगा। उसके बाद इसी मानसून से दमण के जलजमाव वाले स्कूलों, सरकारी इमारतों, सोसायटियों एवं कुछ मुख्य मार्गों के आसपास वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जायेगा। गौरतलब है कि दमण में बरसाती जलजमाव की दो दशक पुरानी समस्या है। हर बार बरसात के समय प्रशासन के अधिकारी जलजमाव के समय इधर-उधर दौडते नजर आते है। लेकिन आज तक किसी ने इसका स्थायी समाधान खोजने की कोशिश नहीं की। लेकिन प्रशासक प्रफुल पटेल ने इस बार दमण के भौलोगिक परिस्थिति को अच्छी तरह से समझ लेने के बाद यह तय किया है कि दमण के जलजमाव वाले स्थलों पर वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जायेगा। ताकि बरसाती पानी का जमाव भी नहीं होगा और जल संरक्षण भी होगा।
    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS