प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दमण-दीव विद्युत विभाग की तर्ज पर कार्य करने की दी है सलाह: ए.के. भल्ला विद्युत सचिव - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Friday, December 15, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दमण-दीव विद्युत विभाग की तर्ज पर कार्य करने की दी है सलाह: ए.के. भल्ला विद्युत सचिव
    - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रशासक प्रफुल पटेल की दमण-दीव विद्युत नीति की तारीफ की - दिल्ली में आयोजित उज्­जवल डिस्­कॉम एश्­योरेंस योजना की बैठक में विद्युत सचिव ने किया खुलासा - उदय योजना के तहत जो लक्ष्य राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों के लिये थे उसे तो दमण-दीव ने पहले ही पूरा कर दिया है - विद्युत सचिव ए.के. भल्ला ने दमण-दीव के प्रतिनिधि को पूछा कि आप दमण-दीव में बिजली की लागत कैसे कम कर पाये? कैसे सस्ती बिजली दे रहे हो? कैसे तकनीक का उपयोग कर रहे हो? 24७7 बिजली लगातार कैसे दे रहे हो? - दमण-दीव के प्रतिनिधि ने कहा कि प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में दमण-दीव विद्युत विभाग ने सभी लक्ष्यों को प्राप्त किया है, पारदर्शक बिजली खरीद एवं वितरण व्यवस्था तकनीकी संसाधनों के साथ कर रहे हैं, कंप्यूटर टेक्नोलॉजी और ऑनलाइन कनेक्शन से लेकर बिजली बिल के भुगतान की सुविधा से भी विभाग बना आर्थिक रुप से मजबूत
    असली आजादी ब्यूरो, नई दिल्ली/दमण। देश के छोटे से केन्द्रशासित प्रदेश दमण-दीव से प्रेरणा लेने की सलाह देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पावर सेक्रेटरी को दी है। इस बात का खुलासा 4 अगस्त को आयोजित उज्­जवल डिस्­कॉम एश्योरेंस योजना की बैठक में विद्युत सचिव ने किया। देश के विद्युत सचिव ए.के. भल्ला ने बैठक में दौरान दमण-दीव विद्युत विभाग के प्रेजेंटेशन के समय कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने खासतौर पर कहा है कि देश के विद्युतविभागों को दमण-दीव की तर्ज पर कार्य करना चाहिए। विद्युत सचिव ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी दमण-दीव विद्युत विभाग के सिस्टम से काफी प्रभावित हुए हैं। उन्होंने दमण-दीव से गये प्रतिनिधि से पूछा कि आप दमण-दीव में बिजली की लागत कैसे कम कर पाये? कैसे सस्ती बिजली दे रहे हो? कैसे तकनीक का उपयोग कर रहे हो? 24७7 बिजली लगातार कैसे दे रहे हो? इसके जवाब में दमण-दीव विद्युत विभाग की ओर से प्रतिनिधित्व करने वाले प्रतिनिधि ने कहा कि हमारे प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में दमण-दीव विद्युत विभाग ने सभी लक्ष्यों को प्राप्त किया है। उन्होंने बैठक में बताया कि पारदर्शक बिजली खरीद एवं वितरण व्यवस्था तकनीकी संसाधनों के साथ कर रहे हैं, कंप्यूटर टेक्नोलॉजी, ऑनलाइन कनेक्शन से लेकर बिजली बिल के भुगतान की सुविधा से भी विभाग आर्थिक रुप से मजबूत हुआ है। दमण-दीव विद्युत विभाग हर वर्ष 100 करोड से ज्यादा का मुनाफा करने के बावजूद दमण-दीववासियों को सस्ती बिजली दे रहा है। उन्होंने बताया कि 2017-18 में बिजली के दामों में हमने 10 से 12 प्रतिशत की कमी भी की है। कम लाइनलॉस, सब स्टेशनों पर कंप्यूटर मॉनिटरिंग सिस्टम, एटीएनसी लॉस कम, एलईडी लाइट कंवरजन, शहर में अंडर ग्राउंड वायरिंग, ग्रामीण क्षेत्रों में बंच कंडक्टर सहित की व्यवस्था की जानकारी प्रस्तुत की गई। दमण-दीव विद्युत विभाग का प्रेजेंटेशन एवं पर्फोमेंस देखकर विद्युत सचिव ए.के. भल्ला काफी प्रसन्न हुए। उन्होंने कहा कि उज्जवल डिस्­कॉम एश्­योरेंस योजना के लक्ष्य तो आपने प्राप्त कर लिये हंै। आपके प्रदेश की तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तारीफ की भी है और आपके प्रदेश से प्रेरणा लेने को भी हमें कहा है। गौरतलब है कि एक साल के भीतर लगातार तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों को दमण-दीव से प्रेरणा लेने का आह्वान किया है। पहले दीव के सोलर प्लांट के समय भी प्रधानमंत्री ने ग्रीन एनर्जी बावत दमण-दीव की तर्ज पर आगे बढने को कहा था, इसके बाद एलईडी स्ट्रीट लाइट और अंडर ग्राउंड केबल वायर के लिए भी दमण-दीव का उदाहरण बैठक में देते हुए तारीफ की थी और अब दमण-दीव विद्युत विभाग द्वारा कुछ समय पहले बिजली के दाम घटाने के बावजूद मुनाफा और 24७7 बिजली उपलब्ध कराने तथा पूरी विभाग की प्रणाली मानव रहित (टेक्नोलॉजी के साथ) करने से दूसरों को भी प्रेरणा लेने का आह्वान किया है। 2017 का वर्ष सही में दमण-दीव के लिए यादगार वर्ष साबित होगा। क्योंकि छोटे से प्रदेश के कार्य का जिक्र देश का प्रधानमंत्री साल में तीन बार करेें तो इससे बडी उपलब्धि कोई नहीं हो सकती। इस उपलब्धि का श्रेय पूरी तरह से प्रशासक प्रफुल पटेल को जाता है। क्योंकि उन्होंने ही दमण-दीव विद्युत विभाग को नई दिशा दी है। इसकी वजह से ही मुनाफे के बाद भी दमण-दीव की जनता को सस्ती बिजली मिल रही है।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS