सुरक्षा में आधा काम कानून और आधा काम शस्त्र का होता है : डीआईजीपी बी. के. सिंह - Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli Asli Azadi Hindi News paper of Union territory of daman-diu & Dara nagar haveli
  •  

  • RNI NO - DDHIN/2005/16215 Postal R.No.:VAL/048/2012-14

  • देश-विदेश
  • विचार मंथन
  • दमण - दीव - दानह
  • गुजरात
  • लिसेस्टर
  • लंदन
  • वेम्बली
  • संपर्क

  •         Monday, October 23, 2017
  • Gallery
  • Browse by Category
  • Videos
  • Archive
  • संपादक : विजय भट्ट सह संपादक : संजय सिंह । सीताराम बिंद
  • सुरक्षा में आधा काम कानून और आधा काम शस्त्र का होता है : डीआईजीपी बी. के. सिंह
    -दमण पुलिस मुख्यालय पर पहली बार भव्य आयोजन के साथ हुआ शस्त्र पूजन
    - डीआईजीपी बी. के. सिंह, सांसद लालू पटेल, वित्त सचिव डॉ. एस. बी. दीपक कुमार ने विधिवत किया शस्त्र पूजन - दमण-दीव प्रदेश भाजपा अध्यक्ष गोपाल दादा, कलेक्टर संदीप सिंह कुमार, पर्यटन सचिव पूजा जैन, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, जिला पंचायत अध्यक्ष सुरेश पटेल, डीआईए प्रेसिडेंट रमेश कुंदनानी, पद्मश्री डॉ. एस. एस. वैश्य, होटल एसो. प्रमुख गोपाल मीरामार, दमण एसपी सेजू. पी. कुरूवीला, एसपी मेघना यादव, दानह एसपी शरद भास्कर दराडे सहित पुलिस के आला अफसरों, प्रशासनिक अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, अग्रणियों, स्कूली बच्चों एवं अन्य लोग शस्त्र पूजन में हुए शामिल - प्रदर्शनी में रखे गये हथियारों एवं शस्त्रों को देखकर स्कूली बच्चे हुए खुश: खुशी का किया इजहार,
    असली आजादी ब्यूरो, दमण 30 सितंबर। असत्य पर सत्य की विजय, बुराई का अंत कर अच्छाई पर जीत का पर्व दशहरा आज देशभर में परंपरागत ढंग से धूमधाम से मनाया गया। इसी तरह पुलिस प्रशासन भी भारतीय परंपरा से परे नहीं है। पुलिस विभाग में दशहरा के दिन शस्त्र पूजन का खासा महत्व होता है। हर साल की तरह इस साल दमण पुलिस मुख्यालय में पहली बाार भव्य आयोजन के साथ शस्त्र पूजन के साथ शस्त्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था। इस अवसर पर दमण-दीव सांसद लालू पटेल, डीआईजीपी बी. के. सिंह, वित्त सचिव डॉ. एस. बी. दीपक कुमार ने यजमान पद पर बैठकर शस्त्र पूजन किया। वासुकीनाथ मंदिर पुजारियों ने वैदिक मंत्रोच्चार कर विधि-विधान से शस्त्र पूजन संपन्न कराया। इसके साथ ही दमण-दीव भाजपा अध्यक्ष गोपाल दादा, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, जिला पंचायत अध्यक्ष सुरेश पटेल, होटल एसो. प्रमुख गोपाल मीरामार, ने भी शस्त्र पूजन किया। शस्त्र पूजन में दमण कलेक्टर संदीप कुमार सिंह, पर्यटन सचिव पूजा जैन, डीआईए प्रेसिडेंट रमेश कुंदनानी, डीएमसी वाइस प्रेसिडेंट लक्ष्मी माछी, दमण एसपी सेजू पी. कुरूवीला, दानह एसपी शरद भास्कर दराडे, पुलिस मुख्यालय एसपी मेघना यादव, एसडीपीओ रविन्द्र शर्मा, काउंसिलरों में तमन्ना मिठाणी, चंद्रगिरी टंडेल, सलीम मेमण, ईरा लाला, अस्पी दमणिया, कडैया सरपंच शंकर पटेल, नानी दमण थाना प्रभारी पीआई भरत पुरोहित, मोटी दमण थाना प्रभारी पीआई सोहिल जीवाणी, क्राइम एवं ट्राफिक इंचार्ज पीआई पंकेश टंडेल, पीआई लॉयड एंथोनी, सुरेश शाह, दानह पुलिस विभाग से के. बी. महाजन, सबास्टियन देवासिया, छाया टंडेल, सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी ई. जे. रोजारियो सहित पीएसआई, एएसआई, आईआरबीएन के जवान, पुलिस कर्मी भी शामिल हुए। शस्त्र पूजन के साथ ही पुलिस मुख्यालय में पुलिस विभाग के हथियारों एवं फायर विभाग के शस्त्रों की प्रदर्शनी भी लगाई गई थी। पहली बार शस्त्र पूजन में स्कूली बच्चों को शामिल किया गया था। स्कूली बच्चों ने प्रदर्शनी में रखे गये हथियारों शस्त्रों को रूबरू देखा और इनकी क्षमता तथा इस्तेमाल के बारे में जानकारी हासिल की। इस मौके पर डीआईजीपी बी. के. सिंह ने कहा कि सुरक्षा में आधा काम कानून करता है तो आधा काम शस्त्रों का होता है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए शस्त्र बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि प्रशासक प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में इस बार शस्त्र पूजन का आयोजन जनसहभागिता के साथ किया गया। प्रशासक ने हमें निर्देशित किया गया था इस बार के शस्त्र पूजन में प्रदेश के जनप्रतिनिधियों, अग्रणियों, आम जनता सहित स्कूली बच्चों की खास तौर भागीदारी होना चाहिए। इसी को ध्यान में रखते हुए शस्त्र पूजन के साथ ही शस्त्र प्रदर्शन का भव्य आयोजन किया गया। इसमें प्रदेशवासियों की भागीदारी भी सुनिश्चित की गई। डीआईजीपी ने जनप्रतिनिधियों, अग्रणियों, नागरिकों, आम जनता का शस्त्र पूजन में शामिल होने के लिए धन्यवाद दिया। इसके साथ ही शस्त्र पूजन के बेहतरीन आयोजन के लिए पुलिस विभाग के आला अफसरों का आभार व्यक्त किया। स्कूली बच्चों ने हथियारों को देखकर अपनी खुशी का इजहार करते हुए कहा कि अभी तक हमने हथियारों को फिल्मों में देखा था आज पहली बार रूबरू देखा है। साथ ही जाना है कि इन शस्त्रों का उपयोग कैसे और किस लिए किया जाता है। ज्ञात हो कि अभी तक दमण पुलिस मुख्यालय में शस्त्र पूजन साधारण तरीके से होता था। प्रशासक प्रफुल पटेल के आदेशानुसार एवं मार्गदर्शन में पहली बार शस्त्र पूजन भव्या आयोजन एवं जनभागीदारी के बीच मनाया गया। हिन्दू धर्म में दशहरा पर्व के दिन शस्त्र पूजन की परंपरा है। विजयादशमी पर पुलिस विभाग में शस्त्र पूजन की पुरानी परंपरा रही है। इसी परंपरा को निभाते हुए दमण पुलिस मुख्यालय में बडे अनोखे अंदाज में शस्त्र पूजन हुआ।

    FLICKER
    Download Asliazadi's apple and android apps
    फोटो गैलरी
    वीडियो गैलरी
    POLLS